Thursday, April 11, 2013

कमुनिस्ट इतिहासकार कैसे देखते है भारत को.


भारत की वकालत करने वाले इसे पुरातन संस्कृति से जोड़कर देखते हैं। भारत के नाम का भी महत्व इस तरह बताया जाता है कि यह महान राजा भरत के नाम पर भारत है। अगर ऐसा है को यह गर्व की बात कैसे हो सकती है कि एक राजा के नाम पर हमारे देश का नाम भारत हो। भरत जो कि एक अति महात्वाकांक्षी चक्रवर्ती सम्राट थे अपने शासन काल में सारे भारत पर अपना झंडा गाड़ चुके थे। भरत की पृष्ठभूमि पर नजर डालेंगे तो उस समय की तत्कालिक आदर्श स्थितियों का सही अंदाज लगाया जा सकता है। भारत सांस्कृतिक और नैतिक तौर पर कितने महान थे इसके लिये भरत की मां शकुंतला की कहानी को जानना पड़ेगा। स्वर्ग से मेनका नाम की एक अप्सरा आती है तो ऋषि का ध्यान भंग (सेड्यूस) करती हैं, साथ रहने लगती हैं (लिव-इन), उनके शारीरिक संबंध बनते हैं और इससे शकुंतला का जन्म होता है। ऋषि उस बच्ची को अपनाने से इंकार कर देते हैं, मेनका को वापस स्वर्ग जाना होता है इसलिये बच्ची को जंगल में छोड़ दिया जाता है जहां पशु पक्षी उसकी जान बचाते हैं। इससे साबित होता है कि उस समय का समाज ऐसे बच्चों को नाजायज मानता था और मेनका सामाजिक दबाव के आगे घुटने टेंक देती हैं और अपने बच्चे को जंगल में छोड़ देती हैं। बाद में कण्व ऋषि ने शकुंतला को अपने आश्रम में पाला और शकुंतला प्रकृति के बीच पाली जाती हैं। वह बहुत सुन्दर थीं। एक बार राजा दुष्यंत शिकार ‘खेलते’ हुए आश्रम पहुचें। उन्हे शकुंतला से प्यार हो गया, दोनों के बीच गंधर्व विवाह हुआ (सेक्स हुआ) और दुष्यंत वापस लौट गए। शकुंतला जब अपने पुत्र भारत को लेकर उनके राज्य पहुचीं तो दुष्यंत ने शकुंतला को पहचानने से इंकार कर दिया। सबूत के तौर पर दुष्यंत की उपहार में दी हुई अंगूठी जो शकुंतला अपने साथ लाई थीं, कहीं खो गई। बाद में एक नाविक को अंगूठी मिलने के बाद बड़ी मुश्किल में दुष्यंत ने शकुंतला को पहचाना। मैं पूछना चाहूंगा कि राजा दुष्यंत कितनी महिलाओं के साथ संबंध रखते थे? मैं इसमें नैतिकता या अनैतिकता नहीं खंगाल रहा बल्कि जानना चाह रहा हूं कि क्या पालीगेमी एक राजा के लिये ठीक है और आधुनिक इंडिया के यूथ के लिये नहीं? क्या इससे उस समय का पुरूषवाद नहीं साबित होता? राजा भरत इतने गवाहों और दबावों के बाद ही क्यूं स्वीकार करते हैं शकुंतला को? क्या इन कहानियों से तत्कालीन स्थिति समझ नहीं आती? आखिर हमें किस इतिहास पर गर्व है? शेक्शपिअर की सबसे जानी पहचानी कहावत है कि नाम में क्या रखा है? फिर भी चूंकि इस डिबेट में नाम ही एक बहस है और हम इस तरह ही भारत और इंडिया का भेद करना चाहते हैं तो फिर अच्छा होगा कि नाम भारत न रखा जाए। किसी राजा के नाम पर एक डेमोक्रेटिक देश का नाम रखना तो पूरी तरह गलत है। वह भी ऐसा राजा का जो चक्रवर्ती सम्राट था। चक्रवर्ती सम्राट बनने के लिये एक यज्ञ होता था जिसे अश्वमेघ यज्ञ कहा जाता था। इसमें एक घोड़ा राज्य दल बल के साथ निकलता था और जिस भी राज्य में उसे रोका जाता था उसे इस सेना से भिड़ना पड़ता था। आखिर में सारे राज्य घूमते हुए यह घोड़ा वापस लौट आता था। खैर वह दौर ही दूसरा था, किसी भी सभ्यता में इस तरह के युद्ध बड़े आम थे। मुझे इससे उतनी आपत्ति नहीं है। आपत्ति तो इस बात से है कि यह सब जानते हुए भी हम अनजान बनने की कोशिश करते हैं, जिन्दा मक्खी को निगलने की कोशिश करते हैं। हम गर्व करते हैं अपने इतिहास पर, गलत बातों को महिमामंडित करते हैं और लकीर के फकीर बने रहते हैं।

(............ मेरे एक आर्टिकल से कुछ अंश)

17Like · · Share


Gaurav Kumar and 76 others like this.


Manas Ranjan Nt satisfied totally,bt liked it

Tuesday at 1:53pm via mobile · Edited · Like


केवल राम स्वर्ग ....इतिहास में स्वर्ग की परिकल्पना है या यथार्थ ...यह भी तो समझना होगा ...!!!
Tuesday at 1:56pm · Like


अरुण अरोरा ालोक जी ये आलोक नाम आपके परिवार ने रखा होगा ... अगर कुछ लोग आपको उल्ले कहने लगे तो आप मुझे उम्मीद है आलोक के बजाय उल्लु नाम स्विकार कर लोगे .. भडकना मर बालक ... इन्डियन के मतलब भी समझ और इस नाम के साथ की बेईज्जती ...सेकुलर दिमाग वाले बालक ...
Tuesday at 1:56pm · Like · 11


Mayank Gupta ये राज भारत भी वाही राजा था जिसने जनता के हितो को सर्वो पारी रख अपने १०० पुत्रो में से किसी को राज गद्दी नहीं सोपी और शांतनु को योग्य समझ कर उसे गद्दी दी और वन को चले गए ...

आज की तारीख में कोण ऐसा राजा हे जो पुरे भारत का राज्य छोड़ कर अपने पुत्र को न देकर किसी और को दे दे और सन्यास लेके वन की और चला जाये .... ?????
Tuesday at 1:58pm · Like · 13


Mayank Gupta "भरत जो कि एक अति महात्वाकांक्षी चक्रवर्ती सम्राट थे " Alok Dixit बिलकुल अनर्गल बात है याह
Tuesday at 2:00pm · Like · 1


Mayank Gupta भारत राजा वाही पराक्रमी राजा थे जो बचपन में शेर के बच्चो के साथ खेलते थे
Tuesday at 2:01pm · Like · 4


Mayank Gupta Alok Dixit mere sawal ka jawab do
Tuesday at 2:03pm · Like · 4


Vishant Sharma @mayank bhai sahi kaha apne
Tuesday at 2:04pm via mobile · Like


Mayank Gupta Alok Dixit और बात केवल नाम की नहीं है भारत के मतलब है ज्ञान में रत ...(Bharat = Engaged in knowledge ) भाई लगता है आप पापुलरिटी के लिए कुछ भी बिना सोचे समझे लिखते है और लोगो को भ्रमित करते है
Tuesday at 2:05pm · Like · 3


Vishant Sharma @mayank bhai alok ne -ve point to bata dia par +ve view batane m inko sharm ati h...becs ye khujliwal ke supporter h...
Tuesday at 2:06pm via mobile · Like · 2


अरुण अरोरा ये कैसे देंगे जी ये वामपंथी भारत का नाम भी चेंग चू रकहने की कोशिश मे लगे है .. मानस पुत्र है ना ..देश द्रोहियो के ... इन्हे होली के रंग दिवाली के पटाखो से दिक्कत है बकरा ईद पर गायो के कटन से समस्या नही , पर कही दशहरे पर बली की खबर लग जाये रुदालियो के साथ मोमबत्ती लेकर विरोध मे जलूस मे पहले नंबर पर दिखाई देंगे ...
Tuesday at 2:07pm · Like · 7


Govind Singh Chauhan Ye Alok Dixit jo hai siiko hai-Arvind Kejriwal ki party ka hain na jin logo ki soch hi ghatiya hai..
Tuesday at 2:07pm · Like


Mayank Gupta Alok Dixit अलोक जी आप मेरे बड़े भाई की तरह हे इसलिए मुझे माफ़ करना पर जो अपने लिखा है वो गलत है .... नाम का अपना महत्व है ... भारत नाम का ओचित्त भरत राजा के नाम से नहीं उसके अर्थ से है .. भारत अर्थात ज्ञान में रत .... अब आप कृपया अर्थ का अनर्थ न करे और लोगो को भ्रमित न करे .. एक तो पहेले ही हमारी संस्कृति को भ्रष्ट करने की हवा चल रही है और आप आग में पेट्रोल डाल रहे है
Tuesday at 2:08pm · Like · 3


अरुण अरोरा तो भाईयो आज से इस्का नाम उल्लू रख दो ना ... जब हम सब कहने लगे गे तो दो चार दिन मे ये खुद रख लेगा ... ये तो यह कह ही चुका है ...बताओ क्या रकहते हो उल्लु .. गधा या एक और महा फेमस भारतीय नाम इस प्रकार के लोगो के लिये ""चुतियम सल्फेट ""..?
Tuesday at 2:09pm · Like · 6


Abhishek Dixit आलोक जी भरत एक महान राजा थे ...इतिहास को और आगे ले जाओ तब आपको पता चलेगा. भरत के 9 पुत्र हुए लेकिन बो महत्वाकांक्षी नही थे इसलिये भरत ने अपने सेनापति के लड़के को राजगद्दी दी . सांतनु भरत के पुत्र नही थे...
Tuesday at 2:10pm · Like · 3


Alok Dixit आपके कमेंट्स की भाषा आपकी संस्कृति का विस्तार से वर्णन करती है। गर्व कीजिये इसपर।
Tuesday at 2:10pm · Like · 6


Govind Singh Chauhan Alok aap wahi ho na jo kahte ho - I love pakistan....Very dirty man and aam aadmi politics
Tuesday at 2:12pm · Like · 3


Mayank Gupta alok bhai mene to koi ap shabd nahi khahe aap meri baat ka jawan dijiye na ... koi gali likhta hai use aap fat se jawab dete hai .. jo sahi swal puchta hai use jawab kyu nahi dete
Tuesday at 2:14pm · Like · 1


Abhishek Dixit भरत के मरने के बाद सांतनु ने आर्यावर्त का नाम भारत रखा....सत्यार्थप्रकाश उठा कर देखिये तो पता चलता है की उस समय का समाज पुरुश्बादी नही था. समाज में पुरुष को उतना ही सम्मान था जितना जी नारी को ...नही तो किसी की हिम्मत नही होती की इक बार राजा मना कर दे की ये मेरी पत्नी नही और उसके बाद भी जवाब तलब हो .
Tuesday at 2:15pm · Like · 4


Devraaj Singh Negi sasti lokpiryata ke liye to me apni maa (mother) ka charitra bhi Sunni Leon jaisa bata/bana sakta hu: Alok Dixit
Tuesday at 2:15pm · Like · 1


Gaurav Tiwari @alok ji apni bhasa dekhiye, man to karta h aap jaise logo ki jaban aur hath dono kaat diye jaye na bol paye na likh paye, chii thu h aapke muh pe jo aapne hamare bharat desh k bare m aisa kha, grinha ho gayi h aapse
Tuesday at 2:15pm via mobile · Like · 2


Mayank Gupta bhai mene kya galat kaha jo mujhe unfren kar diyaaaaaaaaaaaaaa
Tuesday at 2:16pm · Like


Govind Singh Chauhan Are chhodo yaaro kya is gaddar ke wall per comment kar rahe ho.. Aacharya chankya ne kahan hai ki aise logo ke muh nahin lagna chahiye.......
Tuesday at 2:16pm · Like · 3


Vishant Sharma @mayank bhai inke pas apke questn ka answr hi ni h...jitna inko bola gya utna inhone likh dya..inko laga koi pakad ni payga..ab ye pahle phone kar ke puchange fir ans milega
Tuesday at 2:16pm via mobile · Like


Govind Singh Chauhan Ye Harami aise hi karta hai, Ye khata hindustan ka hai aur gaata pakistan ka hai....
Tuesday at 2:17pm · Like · 2


Abhishek Dixit अज के दौर में मनमोहन बोल देते है हम चोर नही है तो कोई दोबारा पूंछने जाता है या हिम्मत करता है...दुष्यंत ने मना कर दिया था शकुन्तला मेरी पत्नी नही फिर भी राजा ने सम्मान दिया और सारे प्रूफ देखे. राजा को श्राप लगा था की बो सकुन्तला को भूल जायेंगे ....
Tuesday at 2:17pm · Like · 3


अरुण अरोरा बदतमीजी पर जूते पदते है .. और बदतमीजी करने वाले जब ये पता है कि वह क्या कर रहा है तब उसे जूते नये होने चाहिये... साफ जूते से मारो .. जूते से गोबर पोछ कर मारो ..कहने का हम नही रह जाता ... सिर्फ जूते खा उसमे अपने प्संद और गुणवत्ता मत देख ... उल्लू ...ये हमारी सभ्यता ही है कि हम तुझे उल्लु कह रहे है उल्लु का पट्ठा नही समझा
Tuesday at 2:18pm · Like · 3


Gaurav Tiwari pata nai aise mansikta wale brahmin kul m kaise janm le lete hai..brahmin aur hindu k naam pe kalank h ye
Tuesday at 2:18pm via mobile · Like · 2


Mayank Gupta हद्द है भाई सच्ची हद्द है .. ढंग से बात करो कोई सवाल पुच लिया अपने बड़े भाई से तो unfren ही कर दिया ... वाह
Tuesday at 2:19pm · Like · 3


Uday Singh Idhar kuch dino se gaur kar rha hoo ki bharat nd uski saskriti nd hindu dharm ko gali dene wale jaydatr log " Dixit, Trivedi ,pandey , mishra" hai.....y wahi log hai jinhone bharat m ek puri jati ko Achut bna diya....aur aaj y he sabse bade sudahrk banne .
Tuesday at 2:20pm · Like


Sandeep Nagar Alok Dixit main aapke vicharon se sahmat hun.....
Tuesday at 2:21pm · Like · 1


Gaurav Tiwari @mayank ji aise logo se mitrata kaise m to khud ise unfrnd karne ja rha hu.
Tuesday at 2:21pm via mobile · Like · 2


Uday Singh Ka nd desh nd dharm ke maan haani ke liy prayasrat hai...wah re brahmanwaad...
Tuesday at 2:23pm · Like


Gaurav Tiwari @uday ji aisa nai h ek machali sare talab ko ganda kar deti h usi m ka ye hai..brahmin k naam pe kalank h, @alok dixit apna naam badal k alok katwa rakh le..
Tuesday at 2:24pm via mobile · Like · 1


Charlie Pareek Alok Dixit सर
प्राचीन भारत में तो सव्य्म्वर की प्रथा भी थी अर्थात एक नारी अपनी पसंद का वार चुन सकती है तो उसमे भी क्या पुरुष प्रधानता कहेंगे ?

आपने स्वर्ग और मेनका की चर्चा की सर तो पूरी कहानी क्यूँ नहीं बताई शास्त्रों के अनुसार शकुंतला को ऋषि दुर्वासा ने शाप दिया था जब वो अपने पति के बारे में सोचती हुई उनकी पुकार का उत्तर देना भूल गयी थी
तब दुर्वासा ने शाप दिया था की जिसकी याद में तू मुझे उत्तर देना भूल गयी जा वो तुझे भूल जाएगा
इसीलिए राजा दुष्यंत शकुंतला को भूल गए थे
अगर कहानी में स्वर्ग और मेनका का एंगल से बात साबित करते है तो फिर ये शाप वाला एंगल भी तर्क संगत होगा है ना ?
Tuesday at 2:34pm · Edited · Like · 4


Abhishek Dixit Alok Dixit जी मैंने बहुत इतिहास पढ़े है ...रामायण और महाभारत अपनी जुबानी याद है. अपने तो कुतर्क किया है बो पूरी सच्चाई नही है आपने इतिहास की एक स्टोरी को उठाया और उसपे सवाल खड़े कर दिये....आर्यावर्त अर्यो का देश रहा है जन्हा सम्मान और परम्परा सबसे ऊपर थी. अगर नारी का सम्मान नही होता तो इक मल्लाह की लड़की से इक चक्रवर्ती सम्राट शादी का प्रस्ताव करता है और मल्लाह की इतनी हिम्मत की बो सर्त रख देता है की मेरी पुत्री से जन्मा पुत्र राजगद्दी पे बैठेगा......समाज में मर्यादा थी उस समय और राजा और प्रजा में बहुत बड़ा अंतर होने पर भी मर्यादा कायम थी.
Tuesday at 2:27pm · Edited · Like · 1


Mayank Gupta अलोक जी ने एक अपनी राइ राखी है और हमें यहाँ जाती के नाम पैर नै लड़ना है
Tuesday at 2:25pm · Like


Sandeep Nagar Ye "SHRAP" kya hota hai koi mujhe bhi de do....
Tuesday at 2:28pm · Like · 1


Charlie Pareek और अगर भारत का नाम भारत के नाम पर रखा गया है तो विश्व में कोई एक देश बताइए जहाँ किसी शहर का नाम किसी व्यक्ति विशेस के नाम पर नहीं रखा गया
स्तालिनग्राद लेंनिग्रद सेंट पिट्सबर्ग वाशिंगटन अब नाम गिनाने लगेंगे तो किताब भर जाएगी
Tuesday at 2:28pm · Like · 3


Uday Singh GAURAV@ y baat sabhi k liy nhi bt idhar kuch samay se aise brahmnao k a nubr badta ja rha hai...
Tuesday at 2:29pm · Like


Mayank Gupta @sandeep nagar --- "SHRAP " to nahi milega per "CH****" ka khitab jarur milega hum sab ki taraf se
Tuesday at 2:30pm · Like · 1


Gaurav Tiwari nari jati ke saman ki baat karta h duniya m ghum k dekh bhart desh m jitna samaan diya jata h pure vishwa ki kisi desh m nai, na phele na ab, muslim nariyo ka kitna saman karte h dum h to uske bare m sachai likh k dikha.
Tuesday at 2:31pm via mobile · Like · 2


Uday Singh Kay kare alok je bhi ltne dino se inke post ko na too Lik mil rhe the nhi Cmmnt....isliy aise post dalne pr mazbur the bechar....
Tuesday at 2:33pm · Like


Mayank Gupta kya koi alok bhai ka no. dega
Tuesday at 2:33pm · Like


Gaurav Tiwari @uday bhai sahi bt h lekin fb pe kai fake id's v hai...aur hum jaise brahmin v to h jo aiso ki akal v thikane lagate h
Tuesday at 2:34pm via mobile · Like · 2


Charlie Pareek और आज के समय में तो पता नहीं पर प्राचीन काल में तो यहाँ नारियों का सम्मान था तभी तो संस्कृत की ये सूक्ति कही जाती थी
"यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते तत्र रमन्ते देवता "
अब किताबें और इतिहास हम सब भी पढते है आप उसे नेगेटिव नज़रिए से देख कर बस नेगेटिव बाटी ही सामने रखते है
न्यूट्रल ओपेनियन होना चाहिए जो बात सही थी वो सही और जो गलत थी वो गलत
पूरी कहानी सुनाई नहीं और बस नेगेटिव पोइंट्स रख दिए
Tuesday at 2:41pm · Like · 2


Shailendra Singh @ Alok Dixit have u any time commented at Islam/Christianity if u love someone does it mean u have to spread hatred for someone else if this is ur definition of "Love" then sorry dear u dont know meaning of "love" if u r not being able to justify ur "Love" then its ur fault..................Its tooo shameful as the details in which manner u r providing. use ur mind for spreading positiveness rather than twisting words..
Tuesday at 2:41pm · Like · 1


Charlie Pareek अगले पोस्ट में कृपया इन देशो और शहरों के बारे में भी जिक्र कर दीजियेगा इन सबके नाम भी किसी व्यक्ति विशेष के नाम पर रखे गए है
List of countries named after people

Bharat – another name for India (Bharata was a prince, son of King Dushyanta and Shakuntala)
Bolivia – Simón Bolívar
Cambodia – Kambu Svayambhuva
Colombia – Christopher Columbus (after the Italian version of his name)
Cook Islands – Captain James Cook
Dominican Republic – Saint Dominic
El Salvador – "The Saviour", Jesus
Israel – Jacob (alternative name)
Kiribati – Thomas Gilbert
Liechtenstein – Anton Florian of Liechtenstein
Marshall Islands – John Marshall
Mauritius – Maurice of Nassau
Philippines – Philip II of Spain
Saint Kitts and Nevis – Saint Christopher
Saint Lucia – Lucy of Syracuse (?)
Saint Vincent and the Grenadines – Saint Vincent
San Marino – Saint Marinus
São Tomé and Príncipe – Saint Thomas
Saudi Arabia – Muhammad bin Saud
Seychelles – Jean Moreau de Sechelles
Solomon Islands – Solomon
बाकि नाम लिखने में तो ना जाने कितने पोस्ट भर जाएँगे इसीलिए ये लिंक भेज रहा हू
पिछले कुछ दिनों से लोग हर बात का प्रूफ मांगते है तो इस बार प्रूफ के साथ
ये है विश्व के प्रमुख शहर और कसबे जिनके नाम व्यक्ति विशेस के नाम पर रखे गए है
http://en.wikipedia.org/wiki/List_of_places_named_after_people

List of places named after people - Wikipedia, the free encyclopediaen.wikipedia.org
There are a number of places named after famous people. For more on the general ...See More
Tuesday at 2:46pm · Like · 9


Pradeep Dey एक बहुत प्राचीन कहावत है "अध जल गगरी छलकत जाए" | आपसे आग्रह है पहले पूरा जान ले, पढ ले, समझ ले, और भयानक पूर्वाग्रह से बाहर निकले फिर उन विषयो पर कुछ कहने का साहस करे |

Little knowledge is always dangerous..........
Tuesday at 2:46pm · Like · 5


Uday Singh Bechare Alok bhai tnsn m hai inke mitr Aseem j jail ja ke fams ho gye y bechare reh gaye...isse frstn m y oolzalool bate kar rhe hai.....
Tuesday at 2:47pm · Like · 3


Gaurav Tiwari @pradeep bhai n @uday bhai bilkul sahi kha aapne
Tuesday at 2:49pm via mobile · Like · 2


Mayank Gupta https://www.facebook.com/photo.php?fbid=522071731165312&set=a.172384729467349.30552.100000874693992&type=1&theater&notif_t=like

Timeline Photos
By: Mayank Gupta
Tuesday at 2:52pm · Like


Alok Dixit कितने भोले हैं Charlie Pareek भाई आप भी।
Tuesday at 2:54pm · Like · 1


Uday Singh Y hai AAP PARTY...
Tuesday at 2:55pm · Like


Charlie Pareek ये तो वही बात हो गयी जब आपको जवाब ना सूझा तो मसखरी कर दी
Tuesday at 2:56pm · Like · 6


Gaurav Tiwari Aur aap kitne bhole hai @Alok Dixit :@
Tuesday at 2:56pm via mobile · Like · 1


Ramesh Tripathi Dixit ji apne paida hone ki history geo bio or chem iisi tarh likhiye to.
Tuesday at 2:57pm via mobile · Like · 1


Uday Singh Alok bhai@ past ko gali dene se kaun sa manvta ka bhla ho ga...sabse bade Categry Mistake y hai k aaj k hisab se aap pehle k cndtn ko taul rhe hai...kwl moorkhta hai
Tuesday at 2:58pm · Like · 1


Alok Dixit चार्ली भाई, आप बात ही ऐसी कर रहे हैं कि मसखरी के सिवा जवाब ही नहीं दे सकता। श्रृाप क्या होता है? कितने भोलेपन से सारी बातें स्वीकार कर लेते हैं आप भी। हद है मेरे दोस्त, हम बड़े हो गए हैं।
Tuesday at 2:59pm · Like


डॉ.योगेन्द्र राजावत mr. alok dixit tumhari sanskrati tumhari soch se jhalakti h..tum jis tarah se apne anusar story me modified kar dete ho ...jaise dushyant ne sex kiya ...ye kaha likha hai apne anusar kuch bhi banate rahte ho ...aise hi lakshman ko bol rahe the ki naak kan katne ka matlab sex kiya ...apni kalpana apne pas rakh..jab tumhari ma bap ke bare koi kalpana karega tab tum samjhoge ki kisi ke itihas ko todne marodne se kya hoga .
Tuesday at 2:59pm · Like · 2


Nitin Kamal sir....i proud that i am also from kanpur....khub kaha hai...
Tuesday at 3:00pm · Like · 1


Charlie Pareek Alok Dixit सर अब ये भी मसखरी ही है ना ??
मेरे दादाजी के पुस्तकालय में एक किताब है उसी के कुछ अंश यहाँ लिख रहा हू
प्राचीन भारत में नारी की दशा य ऐसा ही कुछ नाम है पुस्तक का कवर नहीं है बस जिल्द है इसलिए नाम ठीक ठीक नहीं बता पा रहा

भारत में नारियों को हर दृष्टि से पूज्य शक्तिस्वरूपा माना जाता रहा है. इतिहास के कुछ अंधकारमय कालखण्ड को छोड़कर सदा ही नारी के शिक्षा एवं संस्कार को महत्व प्रदान किया गया. प्राचीन भारत में महिलाओं को पुरूषों के समान अधिकार था. वेदों मे कहा गया '''यत्र नार्यस्तु पूजयन्ते रमन्ते तत्र देवता'. वैदिक काल में गार्गी, मैत्रेयी, विद्योतमा आदि विदुषियां मंच पर विद्वानों की तरह शास्त्रार्थ करती थीं
ऐसा प्रतीत होता है कि ऋग्वेदिक काल तथा उपनिषत्काल में नारीशिक्षा पूर्ण विकास पर थी। उच्च शिक्षा के लिए पुरुषों की भाँति स्त्रियाँ भी शैक्षिक अनुशासन के अनुसार ब्रह्यचर्य व्रत का पालन कर शिक्षा ग्रहण करतीं, तत्पश्चात विवाह करती थीं। ईसा से 500 वर्ष पूर्व वैयाकरण पाणिनि ने नारियों के द्वारा वेद अध्ययन की चर्चा की है। स्तोत्रों की रचना करनेवाली नारियों को ब्रह्मवादिनी कहा गया है। इन में रोमशा, लोपामुद्रा, घोषा, इंद्राणी आदि के नाम प्रसिद्ध हैं। इस प्रकार पुस्तकरचना, शास्त्रार्थ तथा अध्यापनकार्य के द्वारा नारी उच्च शिक्षा का उपयोग करती थी। शास्त्रार्थप्रवी�� �ा गार्गी का नाम जगत्प्रसिद्ध है। पंतजलि ने जिस ""शाक्तिकी"" शब्द का प्रयोग किया है वह ""भाला धारण करनेवाली"" अर्थ का बोधक है। इससे प्रतीत होता है कि नारियों को सैनिक शिक्षा भी दी जाती थी। चंद्रगुप्त के दरबार में इस प्रकार की प्रशिक्षित नारियाँ रहती थीं। प्राचीन काल में भी स्त्री पुरुष की शिक्षा में समानता के साथ विभिन्नता रहती थी। नारियों को विशेष रूप से ललितकला, संगीत, नृत्य आदि की शिक्षा दी जाती थी।
बौद्ध काल में संघ में कुछ विदुषी नारियों का होना पाया जाता है। यद्यपि नारियों के लिए संघ के नियम कठोर थे, फिर भी ज्ञान प्राप्ति के लिए अनेक नारियाँ संघ की शरण जाती थीं।
अवस्ता और पहलवी में नारी के लिए समस्त गृहकार्यों की शिक्षा पर बल दिया है। पशुपालन, धार्मिक रीतियों का पालन आदि संमिलित थे। कुरान ने बिना किसी भेदभाव के स्त्री पुरुष को ज्ञानप्राप्ति का समानाधिकारी माना है। ईसाई धर्म आध्यात्मिक स्तर पर स्त्री पुरुष को समान देखता था किंतु उच्च शिक्षा के लिए स्त्री को "नन (भिक्षुणी)" का जीवन व्यतीत करना होता था।
Tuesday at 3:00pm · Like · 10


Gaurav Tiwari Alok Dixit aaj aapne proof kar diya ki aap bhukhari aur khujliwal ki "mix" aulaad ho.
Tuesday at 3:04pm via mobile · Like · 3


Charlie Pareek Alok Dixit अब जब आप स्वर्ग से उतरी अप्सरा की कहानी सच माँ सकते है तो उसके जवाब में तो शाराप वाली भोली बात ही कहनी पड़ेगी ना अगर आप स्वर्ग अप्सरा की बात को बेस बनाकर पूरा का पूरा आर्टिकल लिख सकते है तो स्वर्ग अप्सरा सच मानते हो तो शाराप और ऋषि वाली बात मानाने में क्या हर्ज है मैंने तो बस आपके तर्क के सामने आप जैसा ही तर्क रखा है
और उसके बाद व्यक्ति विशेस के नाम पर जगह के नाम के बारे में भी पूरा लोजिकल उत्तर दिया तथ्य के साथ और अब एक पुस्तक के अंश भी लिख दिए है
अब अगर आपने इतिहास वो पढ़ा हो जिसे तोडा मरोड़ा गया था तो फिर तो कोई क्या कर सकता है
गार्गी मैत्रेयि आदि के बारे में शायद आप जानते नहीं या उनका जिक्र नहीं करना चाहते
Tuesday at 3:04pm · Like · 11


Uday Singh Alok bhai...pareek je@ ke cmmnt padhiy ..sahi knwldg ka kya lvl hota hai...
Tuesday at 3:07pm · Like


Shailendra Singh @Gaurav Tiwari Please dont mix up Alok with version of AAP it is nowhere words of AAP. I am also part of AAP but I strongly against such thoughts of Alok Dixit like human activist.
Tuesday at 3:08pm · Like · 2


Gaurav Tiwari isne pada kha hai @charlèe bhai iske brain ko "aap" ne wash kar diya h..
Tuesday at 3:08pm via mobile · Like


Charlie Pareek yes I am agree with you Shailendra singh ji
these are personal thoughts of Alok Dixit they have nothing to do with AAP aur any other Group
Tuesday at 3:09pm · Like · 1


Mayank Gupta Alok Dixit ये राज भारत भी वाही राजा था जिसने जनता के हितो को सर्वो पारी रख अपने १०० पुत्रो में से किसी को राज गद्दी नहीं सोपी और शांतनु को योग्य समझ कर उसे गद्दी दी और वन को चले गए ...

आज की तारीख में कोण ऐसा राजा हे जो पुरे भारत का राज्य छोड़ कर अपने पुत्र को न देकर किसी और को दे दे और सन्यास लेके वन की और चला जाये .... ????? kya koi jawab dene ka kasht karega
Tuesday at 3:10pm · Like · 3


Gaurav Tiwari @shailendr bhai chama chaunga is bande ne aaj hamari deshbhakti ki bhawnao k aahat kiya h...dimag ki dahi kar daali h isne..hamare mahan culture k bare m ye aisa sochta h,thu h iske soch par
Tuesday at 3:12pm via mobile · Like · 3


Uday Singh Alok je ka kaam pura ho gya...aaj vo chain ke neend soynge ..dher sare cmmnt unke post ko mile hai....bhale he...
Tuesday at 3:14pm · Like · 3


Shailendra Singh @Charlie Pareek yes dear if some one is in love with "Muslim Girl" he want to show his love with "her" or her "Community" it does not mean he has to propagate something against "Hindutva". if he feels after doing this he would be most lovable then its wrong he must remember that "Goli of Kasab didnt not recognized Hindu or Muslims it just killed all"
Tuesday at 3:15pm · Like · 1


Shailendra Singh also I feel duo brothers are busy in putting some sensational after interval so that they can get attention as well.
Tuesday at 3:17pm · Like


Charlie Pareek अरे आप क्यूँ आहत होते है एक आर्टिकल का पूरा लोजिकल जवाब दिया है यहाँ पर आप उसे पढकर अपने जख्म भर लीजिए के ऐसे लोग भी है जो बिना किसी का पक्ष लिए भी हर देश और हर जगह की संस्कृति का अध्ययन करते है
अब मुझे खुशी होगी के वो मेरे उठाये गए प्रश्नों का उत्तर और मेरे तर्कों को तथ्यों के साथ गलत बताये ना की
"आप कितने भोले है " जैसे आधी लाइन के कन्नी काटने वाले जवाबों से
Tuesday at 3:17pm · Like · 6


Pankaj Agarwal आपके नाम 'आलोक' की भी नई परभाषा करनी पड़ेगी लगता है वैसे आलोक का मतलब कुछ और होता होगा पर हमारे विचार से "इस लोक का नहीं" होना चाहिए सही है न भाई
Tuesday at 3:19pm · Like · 4


Gaurav Tiwari pankaj bhai wah kya sahi arth nikala h,..
Tuesday at 3:21pm via mobile · Like · 1


Pankaj Agarwal dhanyvad gaurav ji
Tuesday at 3:23pm · Edited · Like


Alok Dixit सबसे पहले तो आप लोग यह गर्व करना, महान संस्कृति वगैरह बंद करें। अगर इस तरह ही महान बने रहेंगे तो आगे की बातचीत की संभानाएं ही खत्म कर लेंगे। मैंने जो प्रश्न उठाएं हैं क्या आप लोगों में से कोई इनका जवाब देना चाहेगा। अगर आप इन प्रश्नों के लॅाजिकल जवाब दे सकें तों भी एक स्वस्थ बहस करने को तैयार हूं।
Tuesday at 3:23pm · Like · 1


Nitin Kamal sir ...ये वो लोग है जो पूजा,अर्चना अौर आस्था जैसी चीजों का आत्मिक सुख लेने मंदिर नही जाते बल्कि नयन सुख लेने जाते हैं....अौर जब कोइ सामाल के गलत पहलू को दर्शाता है तो सामाज के ठेकेदार बन जाते हैं...
Tuesday at 3:25pm · Like


Uday Singh Abhi tak kya chal rha tha alok je@ ..nd aap khud ko chod baki sabko illogical samjhte hai lgta hai....
Tuesday at 3:26pm · Like · 1


Mayur Patel Alok Dixit ji bahot sari comments aai hain... lekin aapka gyan thoda kam hain ya samj sakti ...aapke kam ki kadra krta hu lekin aapki is visay ki soch se istafak rkhta hu.... aapne manusmruti padhi hi hogi usme manu ji ne 8 prakar ke vivah ki bat ki hain usme gandharva vivah ka bhi jikra hain likin is prakar ke vivah ki aad me koi bhi vyakti aapne vyabhichar ko sahi na thahray is liye ise ninm kaksha ka kaha hain... likin manu ji ne yeah bhi kaha ki jo koi ish prakar ke vivah samndh me paye jay to use uchit saja pane ke bad samaj ko use purn svikruti ka pravdhan rakha tha..... . Baki to har chij ko dekhne ka aapna aapna najariya hota hain.... baki to nari Lakshmi ka rup hoti hain or lakshimi ko sambhal ke rakhi jati hain lekin aap jese bhudhi vadi "sambhal ke" word ki jagh "6upakar" esha arth dhatan krte hain
Tuesday at 3:26pm via mobile · Like · 4


Mukesh Dudi Disagree wid u Alok bhai...
Tuesday at 3:29pm · Like


Charlie Pareek Alok Dixit सर कौनसा जवाब आपको इल लोजिकल लगा मेरा ??
अब अगर आपके माइंड सेट से अलग हर जवाब आपको अतार्किक लगे तो उसमे कोई क्या कर सकता है
वैसे भी भारत दुष्यंत शकुंतला किस्से कहानी जैसी ही बातें है ना अपने वो सब घटित होते हुए देखा है ना और किसी ने
तो गन्धर्व विवाह को अपने आप ही सेक्स बोल देना सेडुस कर देना ये तो आपका ही माइंड सेट है ना
और आपने नारियों की दुर्दशा की बात की तो उसका भी यथा संभव तार्किक जवाब ही तो दिया है
और देश का नाम राजा के नाम पर उसके लिए भी सम्पूर्ण विश्व की लिस्ट चस्पा कर दी
अब ये सब भी आपको अतार्किक लगता है तो फिर तार्किक तो वही होगा के जब मैं आपकी बात का समर्थन करू
ऐसा ही है क्या ?
आपकी बातें सही होती है पर सब बातें तो किसी इंसान की सही नहीं हो सकती ना
आपने जो पढ़ा उसका मतलब आपने अपने हिसाब से निकाल लिया तो अब आप किसी और की सुनेंगे ही नहीं
ये तो ह्यूमन नेचर होता है
Tuesday at 3:29pm · Like · 3


Shailendra Singh @Alok Dixit किस भाषा में बात करने का सोचा है आपने मैंने आजतक कभी गंदे शब्द का इस्तेमाल नहीं किया FB पर लेकिन आज आपके जवाब में इससे अच्चा उदहारण नहीं है मेरे पास वो आपके जवाब के लिए देते हु
"इश्वर" ने प्राणी के शरीर में विभिन्न छिद्र दिए हैं वैसे आप तो इश्वर को मानते नहीं तो मान लीजिये कम्यूनिस्टो के आधार पर जैसे भी शरीर में कुछ छिद्र हैं मुख्तय दो छिद्रों के बारे में आप जानते होंगे

"मुख छिद्र" का इस्तेमाल खाने के लिए किया जाता है तो क्या "गुहा छिद्र" का इस्तेमाल भी आप खाने के लिए करेंगे क्युकी वह भी "छिद्र" है और "मनुष्य" भी ऐसा ही करेगा क्यों की वो भी एक "प्राणी" है

क्या बना रखा है आपने तर्क को तर्क क्या इसलिए है की आपकी मर्ज़ी में जो आये वह लिख दे
शर्म करे महोदय कुछ अपने ऊपर नहीं तो कमसे कम उनके ऊपर थोडा सा तो करें जिसने आपको जन्म दिया
Tuesday at 3:33pm · Like · 4


Uday Singh Alok je swasth bahas ke liy invit krte hai lkn phle he keh dete hai..." sabse phle aap yeh garv krna chod de ke aap k sanskriti mahan hai"....mtlb ki aap inse bhas krne se phle he inke baato se sahmat ho jay...hahaha..
Tuesday at 3:35pm · Like · 2


Shailendra Singh @Nitin Kamal कौन समाज का ठेकेदार है आप या आलोक किसने दिया किसी भी चीज़ का अपने आधार पर मतलब निकलने का और उसको प्रसारित करने का अधिकार वही तक उचित हैं जहा तक जिम्मेदारी की अनुभूति हो
Tuesday at 3:36pm · Like · 1


Pankaj Agarwal आपने बिलकुल सही बात कही है आलोक जी पर एक बात हम आपको बताना कहते है की हमारी संस्कृति में माता पिता और गुरु चरित्र पर दोष नहीं लगाया जाता है उनसे ज्ञान लिया जाता है और उनका आदर किया जाता हैकोई अपनी माँ पर उंगली नहीं उठता है इसलिए भरत कैसे पेदा हुए ये बहस का विषय नहीं होना चाहिय क्या किया ये होना चाहिए
Tuesday at 3:36pm · Like · 1


Charlie Pareek नितिन जी आप कैसे जज बन गए सबके ?? मुझे तो याद भी नहीं के आखिरी बार मैं मंदिर कब गया था
मंदिर जाना धर्म को मानना अलग बात है मैं नहीं मानता किसी धर्म विशेष को जिस रूचि से मैंने रामायण महाभारत गीता पढ़ी है उसी रूचि से मैंने कुरान बाइबल भी पढ़ी है
हर धर्म में अच्छी बातें है पर जब हम इंसान उन बातो को अपने अनुसारबना लेते है तब वो बुरी बन जाती है
और अगर आपने हर धर्म ग्रन्थ पढ़ा हो तो उनमे मैन करेक्टर ही अलग अलग है उनकी कहानियां उनकी शिक्षाए लगभग एक जैसी है
ज़रा लोगों के नज़रिए से नहीं बल्कि एक छात्र जो न्यूट्रल है किसी के बारे में कुछ नहीं जनता उस छात्र के नज़रिए से किताबें पढकर देखो पूर्वाग्रहों से पढोगे तो अर्थ का अनर्थ तो हो ही जाएगा
Tuesday at 3:38pm · Like · 3


Pankaj Agarwal sahi bat hai Charlie Pareek ji
Tuesday at 3:39pm · Like


Gaurav Tiwari alok aapne "bai haya" k poudhe k bare m suna hoga aapka charitra bilkul usi ki tarah h.
Tuesday at 3:40pm via mobile · Like · 1


Arjun Singh हमारे यहाँ कुछ लोग जिस थाली मे खाते हैँ उसी मे छेद करने की बीमारी से बुरी तरह ग्रसित हैं.....
Tuesday at 3:40pm via mobile · Like · 1


Ramesh Tripathi Sahi jawab diya shailender ji aur Udai ji
Tuesday at 3:41pm via mobile · Like · 1


Charlie Pareek अभी जवाब की आशा मत रखो शाम में या रात में आएँगे जवाब जब सपोर्टिंग स्टाफ आ जाएगा इनका
मैंने देखा है के कैसे पूरा ग्रुप बनाके ये अपनी बात सही साबित करते है
वैसे Alok Dixit सर ने कभी ऐसा नहीं किया इसीलिए मैन उनका रेस्पेक्ट करता हू और उनके सोशल वर्क में उनका पूरे मन से साथ देता हू
बाकि है कुछ लोग जो ग्रुप बना कर ही आप पर टूट पड़ते है
Tuesday at 3:43pm · Like · 2


Pankaj Agarwal आलोक जी आप तो इतने बड़े ज्ञानी है जानकर है कभी" इस्लाम" पर भी हम लोगो का ज्ञानवर्धन करिए कुछ ऐसी ही ज्ञान भरी जानकारी इस्लाम के बारे में भी बताइए फिर उस पर भी बहस की जाये ???
Tuesday at 3:46pm · Like · 2


Alok Dixit Mayur Patel मनु स्मृति की इतने बढ़-चढ कर ज्ञान की डींगे बघारी गयी है उसका असली उद्देश्य जातिवाद का निर्माण और स्त्री को निंदनीय तथा निम्न बताना भर है. इसमे निहित आदेश निर्लज्जता से ब्राह्मणों के हित में हैं.कहने वाले तो कहते हैं कि मनुस्मृति और उसकी आज्ञाएं कब कि मर चुकी हैं, अब गड़े मुर्दे उखाडने से क्या फायदा?लेकिन सच पूछे कि क्या वाकई मनुस्मृति मर चुकी है.ऐसा नहीं हैं, आज भी विश्वविद्यालयों में मनुस्मृति पाठ्यपुस्तक के रूप में पढाई जाती है. जयपुर हाईकोर्ट के परिसर में आज भी मनु की मूर्ति भारत के संविधान को चिढ़ाते स्थित है.यूँ तो आज नये नए कानून बन गए हैं परन्तु दुःख कि बात है कि आज भी वास्तव में हम मनु स्मृति से ही संचालित हो रहे हैं.न जाने हम कब इस कब्र से बाहर निकलेंगे.http://www.neelkranti.com/2012/12/25/%E0%A4%AE%E0%A4%A8%E0%A5%81-%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%AE%E0%A5%83%E0%A4%A4%E0%A4%BF-%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%9C%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%88-%E0%A4%97%E0%A4%AF%E0%A5%80/
NeelKranti.com » मनुस्मृति क्यों जलाई गयी?www.neelkranti.com
जिस महापुरुष ने अपने ग्रंथों को रखने के लिए ‘राजगृह’ जैसा विशाल भवन बनवाया था, उसी ने २५ दिसंबर १९२७ के दिन एक पुस्तक जला दी थी. आखिर क्यों?
Tuesday at 3:46pm · Edited · Like · 1


Alok Dixit कहने वाले कहते हैं कि आज मनुस्मृति को कौन जानता और मानता है, इसलिए अब मनु स्मृति पर हाथ धो कर पड़ने से क्या फायदा- यह एक मरे हुए सांप को मारना है. हमारा कहना है कि कई सांप इतने जहरीले होते हैं कि उन्हें सिर्फ मारना ही पर्याप्त नहीं समझा जाता बल्कि उसके मृत शरीर से निकला जहर किसी को हानि न पहुंचा दे इसलिए उसे जलाना भी पड़ता है.वैसे मनु स्मृति जैसी घटिया किताब कि तुलना बेचारे सांप से करना मुझे अच्छा नहीं लग रहा. बेचारे सांप तों यूँ ही बदनाम हैं, और अधिकाँश तों यूँ ही मार दिए जाते हैं. फिर भी सांप के काटने से एकाध आदमी ही मरता हैं जबकि मनु स्मृति जैसे ग्रन्थ तों दीर्घकाल तक पूरे समाज को डस लेते हैं. क्या ऐसे कृतियों की अंत्येष्टि यथासंभव किया जाना अनिवार्य नहीं हैं?वैसे मनुस्मृति के अलावा भी हिंदुओं की तमाम स्मृतियाँ और ग्रन्थ में शूद्रों (आज के ओबीसी और दलित) तथा महिलाओं को हेय दृष्टि से देखते हुए उन्हें ताडन का अधिकारी बताती है. बाबासाहेब ने १९२७ में जो मनुस्मृति जलाई थी वह अकेली एक पुस्तक से घृणा होने के कारण नहीं, बल्कि इसे अन्य तमाम स्मृतियों और किताबों का प्रतिनिधि ग्रन्थ मानकर की थी. लेकिन आश्चर्य तो इस बात का है कि भारत सरकार आज तक इस राष्ट्र-विरोधी किताब पर प्रतिबन्ध लगाकर इसे जब्त नहीं कर रही.
Tuesday at 3:47pm · Like · 1


Gaurav Tiwari m alok se puchta hu ki use kisne hak diya aisa likhne ka wo v fb pe, agar uske man m swal hi thy to bharat desh m bht gyani sadhu mahatma rehte h unke sharam m jata...alok dixit murdabad..
Tuesday at 3:48pm via mobile · Like · 1


Charlie Pareek Alok Dixit मनुस्मृति के बात आते ही आपका जवाब झट से आ गया उस से पहले भी बहुत कुछ लिखा है मैंने उस पर तो एक ही लाइन लिखी बड़े भोले है आप
इसका तो यही मतलब है के आप उन्ही को जवाब देते है जिनकी बात आप गलत साबित कर सके
Tuesday at 3:49pm · Like · 3


Gaurav Tiwari sale madarchod alok dixit had ho gayi tere kutarko ki thukta hu tjhpe..bai-haya madarchod...aaj se mjhe apna sbse bada dusman samjhna..teri asliyat launga samaj k saamne..kate lund ki aulaad madarchod
Tuesday at 3:52pm via mobile · Like · 1


Alok Dixit चार्ली भाई, आपके सवाल पूरी तरह जायज हैं और मैं उनका सम्मान भी करता हूं पर अगर आप मेरे स्टेटस को ध्यान से पढ़ेंगे तो शायद मेरे विचार जो कि एक तरह से आपके सवालों के जवाब भी हैं, सामने आ ही जाएंगे। कुरीतियां किसी भी धर्म या समाज में हों उन्हे हतोत्साहित किया जाना ही उचित होगा। आप और हम दो अलग किनारों पर खड़े होकर इस पूरे विषय को देख समझ रहे हैं इसलिये ही इतनी असहजता दिखती है विचारों में। वैचारिक मतभेदों का तो स्वागत ही किया जाना चाहिये। Charlie Pareek
Tuesday at 3:54pm · Like · 1


Santanu Arya महाराज कुछ भी मन मे आया वो लिखकर भारत को क्यो दोष दे रहे हो ऋषि ने खुद जाकर कन्व ऋषि को शंकुतला को सोपा था न की उसे छोड़ दिया था कहा लिखा है की उसे जंगल मे अकेले छोड़ दिया था .............कुछ भी बककर नासमझ लोगो को अपनी ओर आकर्षित कर भारत की संस्कृति सभ्यता के खिलाफ एक गेंग तेयार कर रहे हो क्या
Tuesday at 3:54pm · Like · 1


Pankaj Agarwal gussa nahi karte gaurav ji
Tuesday at 3:54pm · Like


Charlie Pareek मनुस्मृति को तो मै भी बकवास किताब मानता हू तभी मैंने उसका कही जिक्र नहीं किया
जो भी बातें बोली है वो सब प्रामाणिक पुस्तकों से ही पढ़ी हुई है और जहाँ तक मैंने पढ़ा है तो गीता उपनिषदों और आधुनिक इतिहासकारों ने भी माना है के प्राचीन भारत में नारी की दशा आज से बहुत बेहतर थी आज नारी की स्वतंत्रता का ढोंग रचा जाता है
अगर नारी का सम्मान ना होता तो दशरथ कभी कैकेयी के वचन को पूरा करने के लिए राम को वनवास नहीं भेजते
Tuesday at 3:54pm · Like


Charlie Pareek Alok Dixit सर
और ये तो कोई बात नहीं हुई के भारत का नाम भरत के नाम पर रखना कुरीति हो गयी पूरे विश्व में होता है ये
और नारी के सम्मान की जहाँ तक बात है तो आज के समय से तो ज्यादा सम्मान ही मिलता था
आप शकुंतला का उदाहरण दे रहे हो तो मैंने गार्गी मैत्रेयी का उदाहरण दिया
काल कोई भी हो अच्छे और बुराई हर काल में होती है इसका ये मतलब तो नहीं के हमेशा उसके बुरे पहले को ही हाइलाइट करे
अगर आप बुराई और अच्छे दोनों के बारे में लिखकर उस काल को जज करते तब सहमति और असहमति की बात आती अब आप एक ही पॉइंट ऑफ वियु पर जाकर कोई कन्क्लूजन निकालेंगे वो तो गलत है न

और किसे पता के भरत का नाम भरत के नाम पर रखा गया था या नहीं
मैन कहता हू भाव रस और ताल से मिल कर बना है हमारा देश भारत ना की किसी राजा के नाम पर
Tuesday at 4:03pm · Edited · Like · 1


Santanu Arya हमारे संविधान में भी कहा गया है " इंडिया दैट इज भारत "|
लेकिन यदि आप ऑक्सफ़ोर्ड की पुरानी डिक्शनरी खोलें तो वहां india का अर्थ है "वह व्यक्ति या दंपत्ति जिसका विवाह चर्च में नहीं हुआ हो |"
तथा indian शब्द का अर्थ है उस दंपत्ति से पैदा संतानें जो की चर्च में विवाह न होने के कारन नाजायज संतान, हरामी या फिर बास्टर्ड |
...
ब्रिटेन में वहां के नागरिक को इंडियन कहना क़ानूनी अपराध है |
अंग्रेजों ने जहाँ भी राज किया ,वहां के नागरिकों को चर्च में विवाह न होने के कारन नाजायज कहा |
वेस्ट इंडीज, इंडोनेशिया ,इन्दोचायना, रेड इंडियन आदि इसके उदहारण हैं कि किस प्रकार अंग्रेजों ने हमें अपमानित करने का षड़यंत्र रचा |

विचार करें कि आप क्या हैं "भारतीय अथवा इंडियन "
विचार करें कि हमारे देश का क्या नाम है " भारत या इंडिया "
Tuesday at 3:59pm · Like


Alok Dixit गीता के बारे में कुछ बातें साझा करना चाहूंगा। गीता के चौथे अध्याय में कृष्‍ण कहते हैं कि :

चातुर्वण्यं मयां सृष्‍टं गुणकर्मविभागश:
तस्य कर्तारमपि मां विद्ध्यकर्तारमव्ययम्।

मतलब, ‘मैं कृष्‍ण ही वर्णव्यवस्था का रचयिता हूं। मैंने ही गुण और कर्म देखकर चार वर्णों की रचना की। मैं उस सब का कर्ता हूं, पर तुम मुझे अकर्ता ही जानो’। यह श्‍लोक बताता है कि वर्णव्यवस्था किसी ब्राह्मण की रचना नहीं है, यदुकुल के कृष्‍ण ने इसे रचा है। साथ ही गीता का रचयिता यह भी साफ कर देता है कि यह महान कार्य कोई गैर-ब्राह्मण नहीं कर सकता। कुरुक्षेत्र के मैदान में गीता का उपदेश विष्‍णु देते हैं, यदुवंशी कृष्‍ण तो निमित्त मात्र हैं। इसलिए वह कहते हैं ‘तुम मुझे अकर्ता ही जानो!’। क्षत्रीय अर्जुन और यदुवंशी कृष्‍ण दोनों वहां ‘साधन’ मात्र हैं, जिनकी लगाम कहीं और से संचालित हो रही है!

कृष्‍ण यदुकुल के थे। उनकी स्वीकार्यता राम की तुलना ज्यादा व्यापक है। 1990 के राम को यदुवंशी राजनेतओं ने तगड़ी चुनौती दी थी लेकिन कृष्‍ण तो उनकी अपनी जात के थे, जिन्होंने गीता के चौथे अध्याय के अनुसार वर्ण व्यवस्था का निर्माण किया था! गीता पहले ही अध्याय में अर्जुन ने ‘वर्णसंकर’ की भी परिभाषा दी है : ‘‘पाप के अधिक बढ़ जाने से कुल की स्त्रियां अत्यंत दूषित हो जाती हैं और स्त्रियों के दूषित होने पर वर्णसंकर उत्पन्न होता है। यह वर्ण संकर पूरे कुल को और कुलघातियों को रौरव नरक में ले जाता है’’। यह जानना रोचक होगा कि वर्ण संकर जातियां कौन सी हैं। मनुस्मृति व अन्य हिंदू धर्मशास्‍त्रों के अनुसार लगभग सभी ओबीसी जातियां वर्णसंकर हैं। गीता पर दांव बहुत सोच-समझ कर खेला जा रहा है।
Tuesday at 3:59pm · Like · 1


Gaurav Tiwari kya ho gya hai bhagwan aise logo ko dharti pe na bhejo aapse prathna karta hu....agar dharti pe bhej v rahe ho to bharat m na bhejo..pakistan ya koi aur desh m bhej do taki inhe v pata chale...
Tuesday at 4:02pm via mobile · Like · 1


Shailendra Singh किस मनुस्मृति की आप बात कर रहे हैं वह पुस्तक जिसमे मनुष्य के जीने रहने खाने की व्यवस्था का विस्तार से वर्णन उस समय किया गया जब पूरा विश्व नंगे घूमता था और कच्चा मांस खाता था
भूल जाइये बाबा साहिब या गाँधी ने क्या किया क्या कहा क्या उन्होंने जो कहा या किया वह सास्वत सत्य था त्रुटियों से दूर था अगर ऐसा होता तो "तथाकथित अहिन्षक गाँधी" ने हिन्दुस्तानियों को "अंग्रेजो के लिए" "हिंसक विश्व युद्ध" में न झोका होता

कितना जानते है आप संस्कृत क्यों की मनुस्मृति संस्कृत में लिखी गयी थी यह समझना आवश्यक है इसका अनुवाद एक अँगरेज़ G vohlar के द्वारा किया गया अंग्रेजो और कम्यूनिस्टो ने हिंदुस्तान के इतिहास को कितनी छति पहुचाई है यह जगविदित है
Tuesday at 4:02pm · Like · 3


Shailendra Singh मनुस्मृति में जन्म के आधार पर कही भी वर्ण व्यवस्था को विभाजित नहीं किया गया है
और सबसे बड़ी बात वर्ण और जाति दोनों एक बात नहीं है
Tuesday at 4:05pm · Like


Gaurav Tiwari alok apne naam k aage se dixit hata de.
Tuesday at 4:05pm via mobile · Like


Shailendra Singh @Alok dixit शायद आपने गहन अध्ययन नहीं किया वर्णों का! सत तम रज गुण इनके आधार पर वर्णों की विवेचना की गयी है कृपया ध्यान से पढ़े इन्टरनेट पर उपलब्ध लिंकों के अतिरिक्त उपनिषदों और गीता का अपना ज्ञानवर्धन करें
Tuesday at 4:10pm · Like · 1


Abhishek Dixit Alok Dixit जी आप या बता दे आप कौन से इतिहास को अच्छा मानते है ...??? आपको सब कुछ बेकार लगता है , मनु स्मृति से लेकर गौरवशाली भारत का इतिहास ..??? आपकी नजरो में गीता भी कचरा है ...??? तो आप कौन सी सामाजिक व्यबस्था की ओर अग्रसर है ...??? आपको मायावती के विचार अच्छे लगते है है "तिलक तराजू और तलवार इनको मारो जूते चार " या द्रविड़ संस्कृति अच्छी लगाती है जो तमिल बोलते है हम ही आर्य है और सब तो जानवर है
Tuesday at 4:12pm · Like · 1


Santanu Arya Alok Dixit 1. हिन्दु समाज का काम जातियों के बिना नहीं चल सकेगा.
2. हमारी वर्ण व्यवस्था संयम के उद्देश्य से अर्थात त्यागवृत्ति से स्थापित की गयी है.
3. जब तक मनुष्य में आसुरी वृत्ति और दैवी वृत्ति वर्तमान है, तब तक जाति भेद रहेगा.
4. जाति प्रथा में स्वराज के बीज निहित हैं.
5. जाति प्रथा नितांत स्वाभाविक प्रथा है.
6. जाति केवल संयम रखने का साधन है.
7. जाति हमारे भोगों की परिसीमा निश्चित करती है.
8. धन संसार में एक महानतम संहारात्मक शक्ति है.
9. वर्ण व्यवस्था तो पारिवारिक सिद्धांतों का विकास मात्र है.
10. हिन्दु समाज एक सरिता है, उसके गर्भ में समाने पर सब कचरा साफ हो जाता है,
11. मेरी कल्पना का आदर्श क्षत्रिय तो वह है जो तलवार चलाये बिना बचाने का काम करे.
12. ब्राह्मण जन्म से होते हैं, पर ब्राह्मणत्व जन्म से नहीं होता है.
13. ऐसा वैश्य जो अपने लिए धन कमाता है और धन संग्रह में विश्वास करता है, चोर है.
14. वर्ण व्यस्था में धर्म और अर्थ का संग्रह है.
15. वर्ण की विशेषता उसकी संख्या का निश्चय करने में नहीं है, उसकी विशेषता मनुष्य के कर्तव्य का निश्चय करने में हैं.
16. विद्या मुक्ति यानी सेवा के लिए है.
17. वर्ण व्यवस्था में शक्ति का दुर्व्यय रोकने का हेतु है.
18. विषय वासना से उत्पन्न संतान को मैं वर्ण संकर कहूंगा,
19. आश्रम धर्म के बिना वर्ण धर्म सम्भव नहीं हो सकता है.
20. आश्रम धर्म की सारी इमारत संयम पर खड़ी है.
21. वर्ण में अधिकार की गुंजाइश नहीं है.
22. बेमन से की हुर्इ मजदूरी सेवा नहीं है.
23. जो ज्ञानी अपने को ऊंचा मानता है, वह मूर्ख से भी बुरा है.
24. सेवा में सौदे की गंजाइश नहीं होती है.
25. जो श्रम रूपी यज्ञ नहीं करता, वह चोरी करता है,
26. यह कहना की श्रम का काम शूद्र का काम है, धर्म को न जानना है.
27. मनुष्य स्वभाव में ही अपना बचाव करने का गुण निहित है.
28. वर्णधर्म के अमल पर मनुष्य समाज की हस्ती का दामदार है.
29. बहुत अधिक पैसा कमाना भी अनीति है.
30. वर्ण धर्म होड़ के विरुद्ध है, जो आदमी को मार डालती है.
Tuesday at 4:12pm · Like


Abhishek Dixit आलोक जी अपने कुतर्क तो कर दिया है लेकिन अपनी बहस में तर्क भी दे दो ..??? आप किसे महान मानते है ...हिंदुत्व की सस्कृति को या कुछ और ...???
Tuesday at 4:13pm · Like


Santanu Arya हमारे देश में जो भी नियम बने थे उनके पीछे कोई ना कोई वैज्ञानिक या तार्किक कारण होते थे लेकिन कालांतर में समय के साथ वो सारे कारण रुढियो में बदल गए और हम लोग अन्धविश्वास में उन साडी रुढियो को मानते चले गए. ऐसे ही कई नियम/ रुढियो में एक है छूत और अछूत भावना का होना.

पहले जब छूत और अछूत का नियम बनाया गया था यह नियम कर्म प्रधान था लेकिन बाद में यही नियम कर्म प्रधान होने के बजाय जन्म प्रधान हो गया. मेरे कहने का मतलब ये है की पहले जो लोग गन्दगी वाले काम करते थे उन्हें ही अछूत माना जाता था लेकिन बाद में उस कुल में जन्म लेने वाले हर व्यक्ति को अछूत माना जाने लगा.

जैसा की मैंने कहा की लगभग हर नियम के पीछे एक तार्किक या वैज्ञानिक कारण होता था इस नियम के साथ भी ऐसे ही कारण जुड़े हुए थे.

जिन लोगो को पहले अछूत माना जाता था वो या तो चर्मकारी के कार्य करते थे या फिर सफाई के कार्य करते थे और बाकि वो सभी वर्ग जिन्हें अछूत नहीं माना जाता था ऐसे कार्य करते थे जिनमे गन्दगी से कोई सरोकार नहीं था. ये सभी व्यक्ति जो अछूत वर्ण के थे उनके शरीरो में गन्दगी एवम गन्दगी में रहने वाले किटानू से होने वाली बिमारियों के प्रति प्रतिरोधक छमता विकसित हो चुकी थी अतः उन्हें तो इन बीमारियों के होने के अंदेशा कम ही था लेकिन उनका शरीर प्रतिरोधक होने के बाद भी बिमारियों का वाहक तो बन ही सकता था.

अब यदि हम बात करे ब्राहमण लोगो को तो वो लोग सबेरे उठ कर सबसे पहले स्नानादि करते थे फिर पूजा करते थे और फिर बाकि जो भी कार्य होते थे उन्हें पूरा करते थे कई ब्राहमण समुदाय के ऐसे व्यक्ति भी थे जो दो बार स्नान और ध्यान करते थे, अब चूंकि ये व्यक्ति अत्यधिक साफ सफाई से रहने वाले थे एवं इन लोगो के शरीर में वो प्रतिरोधक छमता नहीं थी जो अछूत वर्ण के लोगो के शरीर में बन चुकी थी अतः अछूत लोगो का स्पर्श इनके लिए स्पष्ट रूप से घातक था और उस घातक स्थिति से निकलने के लिए एक नियम बना दिया गया छूत और अछूत का जो की कालांतर में एक कुरीति बन गई और ये व्यवस्था कर्म प्रधान होने के बजे जनम प्रधान हो गई.

आज भी यदि हमारे परिवार का ही कोई सदस्य यदि पाखाना (toilet ) साफ कर के आता है तो उसे कहा जाता है की पहले नहा लो फिर बाकि के काम करो जिसका कारण है की जो भी बीमारी के कीटाणु सफाई के समय उस व्यक्ति से लगे होंगे वो नहाने के बाद साफ हो जायेंगे.

ये व्यवस्था जब बनी थी तब कर्म प्रधान व्यवस्था के अनुसार यह व्यवस्था सही थी लेकिन जब यही व्यवस्था जन्म प्रधान हो गई तो सही व्यवस्था गलत हो गई.

उम्मीद करता हूँ की यह जानकारी आपके लिए उपयोगी रही
Tuesday at 4:13pm · Like · 2


Charlie Pareek Alok Dixit सर उस काल में जो वर्ण थे वो कार्यों के अनुसार बनाये गए थे अध्ययन करने वाला कर्मकांड करने वाला पंडित राज करने वाला युद्ध लड़ने वाला क्षत्रिय व्यापार करने वाला वैश्य और और खेत और एनी मजदूरी करने वाला क्षुद्र
और वर्णसंकर उन्हें कहा गया जो संताने बिना विवाह के उत्पन्न होती थी जैसे राजा से किसी दासी या किसी और औरत से हुई संतान या रानी को किसी दास से या एनी पुरुष से हुई संतान
और उन वर्ण संकरो और शूद्रों की बात करते है तो दासी पुत्र विधुर को क्यूँ भूल जाते है जिन्झे महाभारत में सबसे बड़ा ज्ञानी माना गया है और जो हमेशा सही सलाह देते थे और प्रधान मंत्री की पदवी हासिल थी जिन्हें
और कर्ण को क्यूँ भूल जाते है जब दुर्योधन ने कर्ण को मित्र माना तो दुर्योधन नहीं जानते थे के कर्ण कुंती पुत्र है वो तो कर्ण को सारथि पुत्र ही समझते थे फिर भी कर्ण का सम्मान करते थे उनकी योग्यता के लिए
राम भीलिनी के झूठे बेर प्रेम पूर्वक खा लेते है
जंगल के आदिवासी वानरों को अपना परिवार बना लेते है
क्या ये सब अछैयाँ नहीं थी उस काल खंड की
अब आप हर बुरी बात को ही देखते हो तो फिर क्या बोलना आगे
आपने आरिकल की पहली लाइन लखते हुए ही सोच लिया था के नेगेटिव लिखना है तो एक बार इंसान नेगेटिव हो जाये तो फिर उसे पोसिटिव ना तो भगवन बना सकता ना अल्लाह ना जेसस या गुरु जी तो हम जैसे इंसानों की तो बिसात ही क्या जो
Tuesday at 4:14pm · Like · 2


Mayank Gupta कृपया एक बार जरुर पढ़े और शेयर भी करे

मित्रो मैँ अभी अभी TV देख रहा था पाक से आए 480 हिन्दुओँ की दास्ताँ सुनी मन्दिरो मे गाय काटी जाती है और हिन्दुओ को को बोला जाता है कि देखो तेरी माँ को खा रहे है ।

सब्जि लेने जाते है तो गाय को खुन के पात्र मे रख के दी जाती है ।

लडकियोँ का बलात्कार होता है जबरदस्ती उठा के ले जाते है ।

छोटी छोटी बच्चियोँ को भी घरोँ मे छिपकर रहना पडता है ।
ना कोई शिक्षा ना कोई मौलिक अधिकार ।

मै पुछता हुँ भारत के उन तथाकथित मानवधिकार के चुतिया नुमाईनदोँ से

जो अफजल की फासी पर हा हुल्ला करते है .सोनिया गधी से जो सोहराबुद्दीन एनकाउटर मे आँसु बहाती है अब कहाँ हैँ आप के मानवधिकार के पैमाने

कुम्भ के समय पाकिस्तान से भारत आये हिन्दू शरणार्थियो की मदद के लिए बीजेपी , कांग्रेस , RSS , केजरीवाल , या जो NGO हैं उनमे से कोई
आगे नहीं आता. क्यों??

कुछ लोग जो हैं वो इस पर नकारात्मक विचार प्रकट करते हैं की इस तरह कब तक बांग्लादेश, मलेशिया, पाकिस्तान आदि देशो से आये पीड़ित हिन्दुओ की मदद करेंगे ??

क्युकी हर इस्लामी राष्ट्र में हिन्दुओ पर ऐसे अत्त्याचार हो रहे हैं की सोचकर भी रूह काँप उठती है... तो वो लोग मेरी इस पोस्ट के ऊपर भी थोडा सोचे
अगर हम इन पीड़ित हिन्दुओं को वापिस भेजने की बात करते हैं तो कुछ

सवाल उठते हैं –

१) बांग्लादेशी घुसपैठियों और तिब्बत के शरनारथियो , नेपाली नागरिको के
प्रति भारत में उदारता दिखाई गयी, तो फिर इन पीड़ित हिन्दुओं के प्रति इतनी कठोरता क्यों?

२) भारत में लगभग ३ करोड़ बांग्लादेशी घुसपैठिये घुस चुके हैं, इन पीड़ित
हिन्दुओं की संख्या तो बहुत कम है, यदि वहां से सभी हिन्दू (लगभग 30 लाख) भी आ जाएँ तो भी इन घुसपैठियों से बहुत कम होंगे | सुरक्षा का खतरा तो इन बांग्लादेशी घुसपैठियों से भी है |

३) पाकिस्तान से आये आतंकवादी भारत में अपने मंसूबों में इसलिए कामयाब होते हैं क्योंकि उन्हें यहाँ के स्थानीय निवासी पनाह देते हैं, और वोट बैंक की नीति के कारण इन स्थानीय लोगों के विरुद्ध कार्यवाही नहीं होती |

४) विश्व की कुल जनसँख्या में अल्पसंख्यक हो गए हिन्दुओं की मुसीबत में
सहायता करना क्या हमारा फ़र्ज़ नहीं बनता?

अगर आप कुछ भी मदद कर सकते हैं

किसी भी तरह से तो कृपया जरुर करे.
==============
किसी भी स्त्रोत का इस्तेमाल करे . चाहे वो कोई समाजसेवी संस्था हो या राजनीतिक पार्टी या कोई अखबार , जिनसे भी आप इसके लिए संपर्क कर सकते हैं उसके लिए कोशिश करे. कापसहेड़ा बॉर्डर जो नयी दिल्ली में है वहा फ़िलहाल एक ही घर में करीब ४८० लोग बुरी हालत में जी रहे हैं . वो पाकिस्तान जाने की बजाए मौत को बेहतर समझ रहे हैं. अब आप आगे खुद सोच लीजिये की पाकिस्तान में इनके साथ क्या क्या होता है. समय
समय पर आपने भी खबरों में देखा ही होगा. मेरा तो मन बहुत दुखी हो चूका है

उनकी दशा देखकर .
नकारात्मकता को छोड़कर जरा सोचिये तो......................
Tuesday at 4:16pm · Like · 5


Alok Dixit आदिवासियों को परिवार नहीं बल्कि उनका इस्तेमान मान प्रतिष्ठा के लिये नाजायज तौर पर किया गया। लाखों जानें गईं। रावण को उसी तरह बुरा और राक्षस बता दिया गया जैसा कि यूरोप और विकसित अमेरिकी देशों ने अरब देशों और अफगानिस्तान, ईरान को बता रखा है। आप साहित्य को उसी चश्में से न देखें प्रतीक भाई।
Tuesday at 4:18pm · Like


Santanu Arya Alok Dixitआप बता तो रावण के महान कार्य जन हित मे ................ आपका नजरिया रावण के प्रति क्या है जनाब ........... वो ब्रह्मण कुल मे जन्म था ओर प्रकांड विद्वान था परंतु उसने अपनी शक्तियों का प्रयोग जन मानस को नष्ट करने मे किया था इसलिए वो राक्षस था ............. जरा आप अपने विचार प्रकट कर दे रावण के बारे मे आपकी अति क्र्पा होगी
Tuesday at 4:21pm · Like · 1


Tarun Kothari alok ji tu mahan chutiya insan hai. jaroor congress ka agent honga.
Tuesday at 4:22pm · Like


Charlie Pareek अब ये तो आपका वियु है ना
ना आप थे हनुमान के साथ वहाँ ना मै
अगर इस्तमाल किया गया होता वानरों का तो क्यूँ आज लोग राम से ज्यादा हनुमान के भक्त है
अब आपका नजरिया है के आप मेरे घर के कुत्ते को एक जानवर की तरह देखे जिसका इस्तमाल मैन घर की रखवाली के लिए करता हू पर मेरे लिए मेरा वही कुत्ता मेरे परिवार के सामान है जिसे मैन अपना संगी साथी मानता हू और वो मेरी बात आदेश के रूप में नहीं प्रेम के रूप में मानता है
नींद नहीं आती जब वो बीमार हो जाता है
पर आपको तो लगेगा के देखो जानवर पर अत्याचार कर रहा हू मै
ठीक वैसा ही आदिवासी और वानरों के केस में भी है आपको उनका इस्तमाल नाजायज़ लगता है और मुझे वो परिवार और मित्र के रूप में सहायता करते नज़र आते है
वो कहते है ना जैसी दृष्टि वैसी सृष्टि
Tuesday at 4:24pm · Like · 1


Abhishek Dixit आलोक जी "उत्तम कुल पुलस्त्य कर नाती !! शिव पूजेउ विरंच बहु भांति" रामायण ने भी यही कहा है की रावन अच्छे कुल में पैसा हुआ था ...पुलस्त्य ऋषि का नाती था ....
Tuesday at 4:25pm · Like


Abhishek Dixit लेकिन सवाल ये है हम क्यों रावन के गुण ढूंड रहे है ...क्यों हम राम को भूल रहे है ....
Tuesday at 4:25pm · Like · 2


Charlie Pareek और रावण कर्मो से राक्षस कहलाया था रामायण में ये भी जिक्र आता है के युद्ध विजय के लिए जब यज्ञ किया गया था तो राम ने पुरोहित भी रावण को ही बनाया था
इस से अच्छा व्यक्तित्त्व कहाँ मिलेगा दोनों एक दूसरे को मारने के लिए युद्ध करने वाले थे फिर भी राम ने पंडित रावण को बनाया और रावण ने भी एक पंडित का कर्तव्य निभा यज्ञ पूरी रीति से संपन्न करवाया
आज देखो दुश्मन तो दूर भाई और दोस्त भी पीछे से वार करने से नहीं चूकते
Tuesday at 4:34pm · Edited · Like · 1


Mayur Patel Alok Dixit ji aapme or us namurad jakir naiak ke bich ku6bhi fark nahi.... chalo use muje koi matalab nahi muje to charcha se hi talluk hain ... aapne manusmruti ko jativad felane vala granth kaha. ... lekin mene us kitab me kahi bhi bhranahn jati.. khatriy jati... ya veshy jati ya shudr not 'khudra' jati esha likha nahi paya... or aap duniya ke kahi bhi kone me jaiye aapko bhramhn, khstriy,veshy, shudra, is prakar ke char pramukh varn(not jati ) ke log milenege.... lekin aap abhi bhi angreji ki gulami se bahar nahi aaye esh liye Sanskrit ke sabdo ka galat arthadhatan karte ho... chalo samj sakte hain aap or mahesh bhatt jese logo ne us jakir nayik ka jutha pani Jo piya hain.... lekin aapke kam ki bahut kdra krta hu kintu aapke vicharo se ham sahmat nahi hain.... aap bhartiy sanskyuti ka kitna bhi virodh kar lijiye lekin aapke kam ko dekh kar lagta hain arry sanskruti ke ku6 snskar abhi bhi aapke pind me mojud hain.... or ha Jo aapko Sanskrit ke ek hi word ke tarh tarh ke arth Jo malum na ho to agle comments me jarur pesh karunga
Tuesday at 4:30pm via mobile · Like · 1


संजीव कुमार यादव Meri Yogyta Kam Hai Magar Bole Bina Na Rah Sakunga.. Shariman Ye To Saty Hai Ki Jo Log Thoda zayda Padh Likh Lete Hai Wo Murkhta Ki Prakashtha Ki Sobha Badate Hai.. Thik Usi Tarah Jaise Log Zayda Khana Khane Ke Baad Ulti Shuri Kar Lete Hai.. Aap Jitne Ku-trak Kar Le Jo Bharat Ko Pyar Karte Hai Wo Karte Rahenge.. Haa Ye Jarur Hai Ki "BABA SHAHEB" ke Bhakton Ke Aap Chahete Ban Gaye.. Ye Prathna Hai Bhagwan Se Ki Aap Ko Satbudhhi Se.. Bura Na Maniyega !
Tuesday at 4:38pm via mobile · Like · 2


Charlie Pareek and its a Humble request ke sham ko kuch SPECIFIC log comment karenge wo logical reply de
MODI KA CHAMCHA ANUBANDHIT YA BHAGWA COMRADE jaisi padviyan naa baantate phire
jo bina kuch jaane bina kuch padhe bus chillate hai
naam likhu kya?? chalo jaane do sham ko dekhenge
Tuesday at 4:43pm · Like · 1


Gaurav Tiwari maa chod dunga un sb ki, modi ho koi aur kisi k v suportrs hone se phele m bhartwasi hu aur apne pyare desh k khilaf ek sabdh v bardas nai karunga
Tuesday at 4:51pm via mobile · Like


संजीव कुमार यादव Kisi Bhi Party Ya Dal ka Main Chamch Belcha Nahi.. Wo Baad ki Bat Hai Usko Jo Kahna Hai Kaho Magar Ek Baat Yaad Rakho Ki Agar Swarg Ke Devta Se Bhi Desh ke Liye Yudh Karna Pade To Main Gourav Ke Saat ladunga.. kiyuki राष्ट्र सर्वप्रथम सर्वोपरि.
Tuesday at 5:00pm via mobile · Like · 1


Charlie Pareek Alok Dixit सर वैसे जो लिंक आपने दिया है मनुस्मृति क्यूँ जलाई गयी उसे देखा मैंने
और फिर वेबसाइट का नाम भी देखा "नील्क्रान्ति . कॉम " नाम से ही स्पष्ट नहीं हो जाता के इस साईट में निष्पक्ष बाते नहीं होगी ये तो वही बात हो गयी ना के कोई कट्टर हिंदू "गर्व से खाओ हम हिंदू है " जैसे साईट से लिंक दे या कोई कट्टर मुस्लिम "जेहाद्जिन्दबाद " जैसी साईट का लिंक दे
ये तो वही पोस्ट करते है ना जो ये सोचते है इन सबको प्रामाणिक मान लो तो फिर क्या कहने
Tuesday at 5:06pm · Like · 2


Gaurav Tiwari sahi kha sanjiv bhai..mere desh meri dharti se badkar mere liye kuch v nai, @charli bhai kise samjha rahe h wo nai samjhega..
Tuesday at 5:10pm via mobile · Like · 1


Mayur Patel Alok Dixit ji aapse ek saval hain, nari svatantrata kya hain?... nari kya honi chahiye ek vastu, vishay ya ek vyakti? .. vartaman kal me nari ka sthan kya hain?,, or bhtkal me nari ka sthan kya tha aapke tark ke anushar?
Tuesday at 5:25pm via mobile · Like


Ramesh Tripathi Pareek ji aapke tark lajawab hai.bolti band kr d Dixit ki
Tuesday at 5:36pm via mobile · Like


डॉ.योगेन्द्र राजावत alok dixit tumahara asli motive samajh aa gaya ...acid attack wala issue to ek chola odh rakha hai logo ko jodne ka ...asli motive hai indian culture aur hindutva ko badnaam karna ..
Tuesday at 7:04pm · Like · 2


डॉ.योगेन्द्र राजावत jawab do mere sawal ka ki nak kan katne ka matlab rape karna kaise ho jata h..matlab kuch tod marod ke socho ...aur ham use sahi man le.
Tuesday at 7:04pm · Like


डॉ.योगेन्द्र राजावत alok dixit tum jaise log hote hai jo aadhi bat ko sach mante h aur adhe me science lagate h...jaise ye man loge ki sun(suraj) ne aake kunti ke kan me nhi kaha hoga balki kuch aur kiya hoga...are itne hi hoshiyar ho to ye batao suraj kaise aa jayega....ya to puri bat mano ya kuch na mano ..sab kalpana h.
Tuesday at 7:07pm · Like · 2


Kulshrestha Shivani Hahaha alok ji bhagwan kasam ye status mai update karne vali thi us se pahle apne hi kar diya.
Tuesday at 7:23pm via mobile · Like


Gaurav Tiwari rajawat bhai is chutiye ko mat samjhao, kal kahega meri id kisi ne hack kar k aisa likh diya h...aise logo ko sarwjanik taur pe fanshi pe chada dena chahiye, m to tyari kar rha hu ispe mukdama thokunga..
Tuesday at 7:24pm via mobile · Like · 2


Dave Malik यकीन नहीं होता एक थे राजीव दिक्षित जी और एक है अलोक दिक्षित, राजीव जी तो भारत माता के सपूत निकले लेकिन अलोक दिक्षित कपूत निकल गया, वैसे ये अपनी निम्न कोटि की मानसिकता पर्दर्शित कर रहा है, जो इसे बचपन से मिले हैं...............ये सस्ती लोकपिर्यता के लिए अपनी माँ को भी संनी लीओन बताता है.
Tuesday at 8:02pm · Like · 4


Pawel Parashar Alok Dixit ji ; aapne so called "Rashtravaadiyon" ki to achhe se le li. Awesome post hai.
Tuesday at 8:12pm · Like


Pawel Parashar worth sharing
Tuesday at 8:15pm · Like


Fekbuk Duniya Aapne jab ye sab pada hoga to aapke dimag me kewal negatives kaise nikala jaay rahi hogi. Arree mahasay wo sab us samay-kaal ke hisab se likhi gayi mythology hai. Aur aap ke liye behatar vikalp hai India kahne ka.
Kasam rationalist ki, itni dimag aap aids/cancer pe lagate to ek lekh likh dalte ki kaise cancer/aids society ke liye thik hai.
Tuesday at 8:20pm via mobile · Like


Avinash Pandey आलोक भाई शकुन्तला दुष्यन्त की पत्नी थीं भरत की नही भले हे यह मिथ हो। कृपया अपना लिखा एक बार पढें!
Tuesday at 8:28pm via mobile · Like · 2


Kulshrestha Shivani Alok dixit ko samjhna murakh logo ke bas ki bat nahi hai vo kya bat kahna chahate ye bat n samjhte hai
Tuesday at 8:28pm via mobile · Like


Bhagwan Swaroop Sharma एक तो 28 वी पंक्ति मेँ राजा भरत नहीं राजा दुष्यंत होना चाहिए , दूसरी बात क्या किसी के माता पिता कैसे हैं या कैसे थे उस व्यक्ति का मूल्यांकन इस बात से होना चाहिए या फिर वह स्वयं कैसा है उससे । इस पूरी गाथा मेँ आपने भरत के बारे मेँ तो कुछ भी नहीं लिखा क्योकि आपके पास कुछ है ही नहीं, उनके माता पिता की छीछालेदार करके आप क्या सिद्ध करना चाहते है। आपलोग बिल्कुल मानसिक दिवालिया होगाए हैं आपको सेक्स्पीयर ही दिखाई पड़ेगा क्योकि उसका नाम ही सेक्स से शुरू होता है, लानत है आप जिसे लोगों को इस देश का नागरिक होने के लिए।
Tuesday at 8:29pm · Like · 12


Kulshrestha Shivani Gaurav tiwari ji aap alok ji par koi case nahi thauk sakte jo kuch thauk sakte hai vo sirf fb par
Tuesday at 8:30pm via mobile · Like


DrSumit Saxena media k dalal...
Tuesday at 8:37pm via mobile · Like · 1


Gaurav Tiwari @ shivani ji m jo karunga aap bs dekhiye m kahne se jyada karne m yakin rakta hu...
Tuesday at 8:48pm via mobile · Like


Rohan Sharma Alok dixit@
Bhen ka loda koi dalit converted lag raha he... Tuje khud ko pata he kya tera baap kon he ? Jaa k DNA jaanch karwa le ke . Yahi baat khuleaam aane bol veshya ki aulaad. Tuje to kya paida karnewali tere maa k bhosde me goli na mari to naam badal dena.
Tuesday at 8:54pm via mobile · Like · 1


Yogesh Sharma naam me kuch nahi rakha to apna naam gadha nandan kyo nahi rakh lete aur ye dixit bhi tumhare itihaas ko hi darshata hai ise bhi chhod do
Tuesday at 8:56pm via mobile · Like · 2


Rohan Sharma Tere gand me dumm ho to dusre majhab k khilaaf bol k dikha.wo log teri gand me talwaar marenge.
Tuesday at 8:58pm via mobile · Like


Rohan Sharma Alok dixit ka itihaas kya he ?
Kis randi ke raj or kis suwwar k virya se bana he tu ?
Tuesday at 9:00pm via mobile · Like


Rohan Sharma Are Hinduo jo kehna he khul ke kaho....iski maa bhen sabko gali do...kya ukhaad lega ye ? jyada se jyada case karega ya fir chhup k waar karega... Apni family se bhi saaf keh do ki jiyoge to sar utha ke aur aise madarchodo ki bahan chodenge... Hes Dick-Shit not dixit
Tuesday at 9:03pm via mobile · Like · 1


Yogesh Sharma dosh tumhara nahi tumhari soch ka hai tum log ajaadi ka matlab sex vichar pradarshit karne ka matlab bharat ki mahanta per anguli uthana samjhte ho tabhi to gandharv vivah ko sex kahte ho are gadhe gandharv vivah ka arth prem vivah hota tha
Tuesday at 9:04pm via mobile · Like · 2


Yogesh Sharma abhe gadha dixit i mean alok dixit bharat ki mahanta per shak karta hai aur khud per yakeen karta hai tune khud ka dna test karva liya kya kyoki tum logo ko har cheej ka proof chahiye to kya tumhare paas khud kiski paidaish ho iska proof hai
Tuesday at 9:10pm via mobile · Like · 1


Rohan Sharma Yogesh bhai...iski DNA report me kisi suwwar or aids wali veshya k ansh jarur milenge....is suwwariya k jane se kaho test karae...
Tuesday at 9:12pm via mobile · Like · 1


Aggeressive Munda आलोक दीक्षित जी
पहली बात जब किसी भी बात पर उँगली उठाओ तो समझ तो लो कि उस विषय पर आपका ज्ञान कितना है???

अब आते है विषय पर
भारत ये नाम जरूर भरत के नाम पर पड़ा लेकिन इसका अर्थ होता है (भा=प्रकाश या ज्ञान, रत=अनुरक्त) जिस भूखण्ड पर मानव के ज्ञान की ज्योति प्रज्वलित हुई
पहले इसका प्राचीन नाम था आर्यावर्त
अब चूँकि भरत एक चक्रवर्ती राजा थे तो उनके नाम से प्रभावित होके भारत रखना स्वाभाविक सा लगता है

अब आपका ऐसा कहना कि शकुन्तला के गन्धर्व विवाह को देखते हुये भारत नाम ना रखा जाये क्यूँ भाई प्रेम-विवाह से आपको क्या आपत्ति हैः?
आपके लेख को अगर आप पुन: पढ़े तो आप पायेगेँ कि आप खुद कनफ्यूज है
भाई पहले स्पष्ट करे आप लिख दूसरे के बारे मे रहे है गलत दूसरे को सिद्ध करना चाहते है
ये आपकी मूर्खता का एक स्पष्ट उदाहरण है

आपको एक भारतीय राजा के नाम पर भारत नाम उचित नही लगता लेकिन आपको विदेशियो के द्वारा दिया गया नाम सहर्ष स्वीकार्य है
वो क्यूँ???

पहले ठीक तरह से ज्ञान अर्जित करो फिर ज्ञान का सँचार भी कर लेना

आशा है इस टिप्पणी से आपको अवश्य थोड़ा ज्ञान मिलेगा
धन्यवाद
Tuesday at 9:13pm via mobile · Like · 13


Gaurav Tiwari @ rohan sharma bhai aap log sath do to mein iski maa behan kya iska pura khandan chod du..sala kate lund ki aulad gandu bhosadi ka, alok gandu
Tuesday at 9:14pm via mobile · Like · 3


Drone Bombing TUmhe ISLAM me koi burai nazar nahi aati ??????/
Tuesday at 9:20pm · Like


Rohan Sharma Gaurav Bhai...Bindass bhai...me aur mere anya sabhi bhai aapke sath he...ye sirf publicity ka bhuka...ab kal news me hamare naam chhapega ye chhinar ki aulaad attention k liye...iski gand me bamboo ghusane ka abhi bandhobast kar raha hu.
Tuesday at 9:21pm via mobile · Like · 1


Rohan Sharma Islam k bare me ek b shabd bola hota to ab iske ghar me 500-1000 logo ne ghus k iski maa chod di hoti....par aise hindu hi madarchod ho to dusro ki buraai kya kare ?
Tuesday at 9:26pm via mobile · Like


Rohan Sharma Gaurav Bhai...ye hijde ka bachha hum sabko bhadka k media dwara publicity or attention chahta he...iski fatti gand ki publicity karo madarchod ki...
Tuesday at 9:28pm via mobile · Like


Gaurav Tiwari ukad kya lega ye madarchod iski maa chodane k liye to m v tyar baita hu, bhai mere ko frnd req bhej de, m to bhai avi 5 din k liye blok hu
Tuesday at 9:29pm via mobile · Like · 1


Pradip Tiwari abe aalok .....har desh , har dharm ki starting sex se hi hoti hai .....muslimo me aaj b 10 biwiya rakhi jaati hai .....pataa nhi tu kya samjhaana chaahta hai logo ko ....
Tuesday at 9:30pm via mobile · Like · 1


Pradip Tiwari aseem trivedi ka naam to ek do baar media me aa chuka hai to uska famous hone k liye kuttapan samaj me aata hai ...bt is aalok ko to koi jaanta b nhi ......aise kutto ka status dekh k n chaahte hue b gaali nikal hi jaati hai .....weshyaa ki aulaad aalok .....
Tuesday at 9:33pm via mobile · Like · 3


Pradip Tiwari aur ye akela nhi hai , iske jaise 100-150 logo ki poori team iske sath lagi hui hai , jinme aseem trivedi , manisha pandey jaise log hai , aur kuch hundreds muslim hai ....
Tuesday at 9:35pm via mobile · Like · 2


Rohan Sharma Gaurav bhai...apke me add frnd tab nahi he...computer pe aau tab request bhejunga...
Tuesday at 9:36pm via mobile · Like


Pradip Tiwari ye aseem trivedi jab jail me gaya tha to mai iska supporter ban gaya tha , muje laga tha ki ye koi desh bhakt hai , bt jaise jaise iske status dikhe to samaj me aaya ki haafij said , afjal , kasaab se b dangerous to ye sab hai saale aur khule desh me ghum b rhe hai maje se .....
Tuesday at 9:38pm via mobile · Like · 2


Rohan Sharma Trivedi,Pandey wagera logo se muje koi lena nahi bhale wo meri hi caste k ho... Jo desh virodhi or dharm virodhi he wo sab hamare dushman he...iss gandu ko b saayad publicity dwara kisi reality show me jana he isliye hume uksha raha he...
Tuesday at 9:41pm via mobile · Like · 2


Rohan Sharma Kya ukhaad legi iski 100-150 ki team...? In sabhi dharm or desh virodhiyo ki maa ka ki chut
Tuesday at 9:48pm via mobile · Like · 3


Aggeressive Munda भाईयो ये चूतिया बन्दा है इसके जैसे बन्दो को कोई राह चलता आदमी भी ये बोले कि इसकी माँ को वो चोद कर आ रहा है तो ये भाग कर जायेगा और अपनी माँ पर कलँक लगा देगा

अबे ये पोस्ट से बोलना क्या चाहता है
मेरे पिछले कमेन्ट का उत्तर दे आलोक दीक्षित
Tuesday at 9:57pm via mobile · Like · 7


Gaurav Tiwari rohan bhai ab bhejiye..
Tuesday at 9:58pm via mobile · Like


Gaurav Tiwari bhai log ab isko cmnt se nai iske ghar ja k iski maa behan chodane se kaam banega..madarchod gandu harami, ye trivedi aur sb sale afjal aur kasab ki najayaj aulaad h..tabi to apne baap afjal ki tarah hi dadhi rakte h sb
Tuesday at 10:02pm via mobile · Like · 2


Amit Pandey अब इतना सब कुछ होने में बेचारे भरत का क्या दोष?
Tuesday at 10:03pm · Like · 2


Alok Dixit एक त्रुटि हो गई है जो कि अविनाश भाई के सौजन्य से संज्ञान में आई है- "राजा भरत इतने गवाहों और दबावों के बाद ही क्यूं स्वीकार करते हैं शकुंतला को.." में भरत नहीं बल्कि राजा दुष्यंत होगा। माफ कीजियेगा।
Tuesday at 11:13pm · Like · 1


Alok Dixit तो अब मुझे किसी @agressive munda "ऐग्रेसिव मुंडे" से ज्ञान लेना होगा? ये तो हद हो गई
Tuesday at 11:16pm · Like


Ashok Bhosle Faltu bakwas hai ye sab
Tuesday at 11:17pm · Like


Raj Sharma भाइय़ो ऐसे बहुत से कमीन सेकुलर हैं जो अपनी मां को नंगा करके तमाशा करके पैसा और नाम कमाना चाहते हैं ये हिंदु विरोधी बातें करके हमें उकसा कर अपनी पोस्ट पे कमेंट चाहते हैं फिर यही लाइक और गालियों को दिखाकर सौदा करते हैं सरकार से
Tuesday at 11:22pm via mobile · Like · 6


Saqib Ali Ansari तुम कितने हरामी हो एक तरफ एसिड अटैक्स की बात करके चंदे की रकम खाते हो और दूसरी तरफ शकुंतला एक महिला के बारे में इतना गन्दा लिखते हो ..सेल जो अपनी कौम का न हुआ वो हम मुस्लिमो क क्या ख़ाक होगा ... हराआमी
Tuesday at 11:23pm · Like · 15


दीपक शर्मा एक कहानी में भी सुनाता हूँ .....बहुत पुराणी बात नहीं है ...आजकल की बात है एक आप आम आदमी था उसका नाम अरविन्द केजरीवाल था (मतलब सबसे बड़ा चुतिया) और उसके कुछ कुत्ते भी थे (मतलब कार्यकर्ता) आप उन्हें बड़ा चुतिया कह सकते हो .....सबसे बड़े चुतिये के पास एक स्टील का गिलास था ..वोह गिलास ना हुआ अलादीन का चिराग हो गया .....उस स्टील के गिलास के दम पर सबसे बड़े चूतिये ने 13 तक अनशन किया .......फिर सब लोगो ने उस स्टील के गिलास को अपना चुनाव चिन्ह बना लिया और चुनाव में हार गये ...
Tuesday at 11:27pm · Like · 11


Saqib Ali Ansari इस साले को देखकर याद आता है आजकल का एक टीवी ऐड एक ऐड .... मैं लिखूंगा आप लोग समझ लेना .... ये मादरचोद है .... अपनी माँ चुदवाना ... माँ की बोली लगवाना ... अगर यह सब मादर चो दी है ... तो ये मादरचोद है ...हाँ मादरचोद है ... ये मादरचोद है
Tuesday at 11:28pm · Like · 4


Aggeressive Munda आलोक दीक्षित वैसे ज्ञानी व्यक्ति हमेशा यही कहते है कि ज्ञान जहाँ से भी मिले ले लो
अब तुम खुद को या तो इतना आत्मविश्वासी मानते हो जैसे ज्ञान गँगा तुम्हारे यहाँ से बहती है

क्यूँ बेटा अगर इतना ही ज्ञानी हो तो मैने जो प्रश्न किये है उसका उत्तर दो
Tuesday at 11:37pm via mobile · Like · 2


Prabhat Singh On 8th April 2013 a chartered flight ferried BJP leaders - Rajnath Singh, Arun Jaitely, Sushma Swaraj and Dharmedra Pradan from Delhi to Karnataka. It was the eight seat executive jet owned by Eon Aviation Pvt Ltd, a wholly owned subsidiary of DB Group of 2G Scam accused Shahid Balwa and Vinod Goenka.
All this is very interesting because the top brass of BJP didn't get any other chartered flight other than that of 2G accused? The question that needs to be asked is: Who paid for this charter? Was the BJP provided this at a concessional rate? Is the BJP taking favours from 2G scam accused Shahid Balwa?
Tuesday at 11:40pm · Like


कुमार मनीष सिंह Alok Dixit kya aapko apne mata pita ka naam maloom hai saboot hai ki wo aapke hai. mata ke paas sabut hai ki apka pita kon hai sayad nahi hoga bas kahe jaa rahe hai usi ko aap mane jaa rahe hai humari sanskriti bhi aisi hi hai kal jo hua tha purvajo ne deha tha pidhi dar pidhi baat hum taq pahuchi agar aap in sanskritik baato ko bhedte hai ya bharat naam par sawal dagte hai to pehle jaan le is naam ki maryaada hai jo humne banayi hai aur aap tod rah hai kisi chiz ko bura rang pot kar yani is tarah ka tarq de kar jalil karna to ko aap cmunisto se sikhe jo kuch kar to sakte nahi bas lage hai arth ko anarth karne sarm karo itna hi gyaan hai to desh ka kala dhan khojo rajnetao ko janata ke samne nanga karo haramio ki tareh apne matribhumi ka balatkaar na karo jai hind
Yesterday at 12:29am · Like · 2


Yogi S Rana aisi bakwaas karne ke liye u asshole need freedom...
Yesterday at 12:39am via mobile · Like · 1


Gaurav Tiwari @aggressive munda ye gandu h iske muh m bwasir ho gya h kya bolega ye madarchod...behaya h madarchod ye
Yesterday at 12:54am via mobile · Like · 3


Charlie Pareek Alok Dixit सर आप मूंदे की बातों का सेरिओउस होके जवाब देते हो मनुस्मृति की बात का सेरिओउस होके जवाब देते हो और जो प्रशन इतने आदर के साथ और पर्याप्त तर्क और साक्ष्यों के साथ मैंने आपसे पूछे उनका एक बार भी जवाब नहीं दिया
ना ही वो नीलिक्रंती वाले लिंक वाली बात का ??

क्या मतलब समझू इसका
या तो आप के पास इन सवालों का जवाब नहीं है
या फिर आप भी टी आर पी जेनरेट करने वाले कमेंट्स पर ही टिप्पणी देते हो
अभी तक आपने नहीं समझाया के कैसे आपका सवर्ग अप्सरा वाला तर्क सत्य है और श्राप वाला तर्क भोली बात
ना ही आपने वो नारी के दशा वाली किताब के अंशों पर कोई टिप्पणी की
न ही वर्ण व्यवस्था वाले उत्तर पर
और व्यक्ति विशेस के नाम पर स्थानों के नाम वाली लिस्ट तो शायद स्किप ही हो गयी
और फिर आदिवासी वानरों के नाजायज़ इस्तमाल वाली बात के जवाब का भी कोई उत्तर नहीं मिला
आप स्वस्थ बहस की बाते करते हो पर स्वस्थ बहस करने वाले लोगों को जवाब देने की बजाय आप उनको जवाब देते हो जो आप को उकसाते है
और इस तरह आपके मित्रगण सब खड़े हो जाते है के भाषा तो देखो इनकी येवगरह
आप इंक सबका मूह मेरे सवालों का यथापरक तर्क संगत जवाब देके भी कर सकते हो
एक कहानी वो भी अपने हिसाब से सोची हुई उसके आधार पर आप समूर्ण काल खंड को कैसे जज कर सकते हो ?
ये तो वही बात हो गयी के रेस के घोड़े के सर पर ब्लाइंदर्स लगा दो तो उसे बस सामने क्या है वही दिखता है
इधर उधर आस पास का कुछ नहीं दिखता
इसी तरह आपने अपनी सोच को जिधर मोड़ लिया है उसके अलावा आप कहीं और देखना ही नहीं चाहते
फिर क्या फर्क रह गया आप में और कट्टरपंथियों में वो भी तो एक ही नज़रिए को देखते है और बाकि सब कुछ उनके लिए गलत है
वैसे ही आप भी तो बस अपने नज़रिए को ही सही माँ रहे हो और बाकि सबको गलत
हिंदू कट्टरपंथी मुसलमान की बुराई करता है
तो आप सेकुलरिज्म का चोगा पहन के हिंदू इतिहास की बुराइयां
वैसे सेकुलरिज्म का अर्थ हर धर्म का सम्मान और हर धर्म की अच्छी बातों का आदर करना होता है
पर आज कल आप लोगो ने सेकुलरिज्म का मतलब कर दिया है जो हिंदू की बात करे वो कट्टर और जो बुराई करे वो सेकुलर
"हो सकता है कल इस कमेन्ट के बाद चार या पांच लोग बोले के हमने पहले भी देखा है इन्हें ये तो ऐसे ही मुद्दे को भटकते है बात को कहीं का कहीं ले जाते है निक्कर वाले लगते है तो ऐसे लोगो को जवाब देना अब मैन ठीक नहीं समझता जब से उनको जान चूका हू और गलती से उनके सरताज ने क़ुबूल भी कर लिया के उसने देश सुधर का ठेका नहीं ले रखा उसे जो मन में आता है वो लिखता है "
Yesterday at 4:14am · Like · 5


Vaibhav Alok Dixit सुन्दर कहानी... आपके कमेंट पढ़कर और भी अच्छा लगा... अब मेरी उत्सुकता इस हद तक बड़ चुकी है कि में आपकी जुबानी आपके पैदा होने की कहानी सुनना चाहता हूँ ? कैसे १ इस्लामिक सोच वाला व्यक्ति १ हिन्दू घर में पैदा हुआ ?हुआ ?
Yesterday at 11:33am · Like · 10


Sonam Arya @अलोक देशद्रोही तू था ना एक बार लिखा था "i love u pakistan"...???? साले देशद्रोही......खुजलीवाल की पूरी टीम hi एक से बढ़ कर एक देश्रोहियों से भरी पड़ी है........ford ने शायद इसी काम के लिए तुम लोगो को पैसा दिया है.......भारत विरोधी कार्यक्रम चला रखे हो और भारत के सीधे सादे लोगो को बेवकूफ बना रहे हो........
Yesterday at 11:40am · Like · 6


Sonam Arya आखिर मै क्यों केजरीवाल की टीम से नफरत करता हूँ ? क्योकि मै हिन्दू हूँ ... अगर कोई मेरे मन्दिरों का, मेरे पूजा घरो का मेरे देवताओ का सम्मान न करे तो कोई बात नही .. लेकिन कम से कम कोई उनका अपमान तो न करे ..

अगर किसी को मुस्लिम वोट चाहिए तो उसे मुसलमानों के भले के लिए काम करना चहिये .. न की किसी मुस्लिम सम्मेलन के जाकर हिन्दू देवी देवताओ को मजाक बनाकर अश्लील कविताये और अश्लील मजाक बनानी चाहिए ..

इस देश में भ्रष्टाचार सतयुग में भी था .. द्वापरयुग में थी था और आज भी है और कल भी रहेगा .. क्योकि ईमानदारी से सोचिये तो सब कही न कही भ्रष्ट है ..

लेकिन भ्रष्टाचार ने नाम पर लड़ाई अगर हिन्दूविरोध में तब्दील हो जाये .. वंदेमातरम् और भारत माँ की विरोध में तब्दील हो जाये ... भारत माँ की तश्वीर को साम्प्रदायिक बताकर मंच से निचे फेक दिया जाये ..

तो मै ऐसे लोगो का समर्थन करने के बजाय भ्रष्ट समाज में रहना ज्यादा पसंद करूंगा .. क्योकि मेरे लिए भ्रष्टाचार से बड़ा मेरा धर्म है ..

एक बार कोई पाकिस्तान के हिन्दुओ से पूछो तो सही .. कैसा लगता है जब किसी की धर्म पर चोट की जाती है ..

मै एक बार फिर छिछोरे और दोगले कुमार विश्वास का विडिओ पोस्ट कर रहा हूँ .. इसे देखने के बाद जो हिन्दू इसका समर्थन कर रहा है उसकी माँ जरुर किसी अब्दुल भाई से गर्भवती हुई होगी

http://www.youtube.com/watch?v=tKuBXPKSCqc

Kumar Vishwas abusing Hindu God lord Shivawww.youtube.com
इंडिया अगेंस्ट करप्शन के कुमार विश्वास जी के शिव जी पर बोल को सुने। किसी को भी इ...See More
Yesterday at 11:42am · Like · 6


Aryan Chaudhary Dhikkar h tumhare upar apni sanskriti ka na to gyan h aur na he maan h
Yesterday at 11:47am via mobile · Like · 3


Sonam Arya मित्रो अभी आपको सबूत देते है की अरविन्द केजरीवाल कितने बड़े झूटे है. अरविन्द केजरीवाल पर आरोप लगा था की उन्होंने अमेरिका के फोर्ड फाउंडेशन से ४ लाख रुँपये लिए थे तो केजरीवाल ने साफ़ मना कर दिया था और कहा था की कोई सबूत है तो दो.

आज खुद अरविन्द केजरीवाल ने माना और बिज़नस स्टैण्डर्ड को बताया की उसने फोर्ड फाउंडेशन से 2005 में 1 लाख 72 हज़ार डौलर और 2008 में 1 लाख 97 हज़ार डौलर लिया था, जो कुल मिला कर 3 लाख 69 हज़ार डौलर (२ करोड़ रुपये) होते है.

आपकी जानकारी के लिए बता दे की फोर्ड फाउंडेशन कई सारे भारत विरोधी कार्यो के लिए पैसे देती है. यहाँ तक की कुछ आतंकी गतिविधियों में भी फोर्ड फाउंडेशन ने चंदा दिया है. आप गूगल पर पता कर सकते है फोर्ड फाउंडेशन के बारे में. राजीव मल्होत्रा जी ने भी फोर्ड फाउंडेशन के भारत विरोधी कार्यो के बारे में अपनी पुस्तक "ब्रेकिंग इंडिया" में लिखा है.

अब केजरीवाल जी के इस झूट के बारे में आम आदमी समर्थक क्या कहेंगे?

अरविन्द केजरीवाल ने firstpost को SMS से पुचा की सबूत कहा है? उसके फोर्ड फाउंडेशन से पैसे लेने के? निचे देखे सबूत.
http://www.firstpost.com/topic/organization/ford-foundation-annas-movement-a-copy-of-world-bank-agenda-arundhati-roy-video-72824-9136-1.html
http://www.ibtl.in/news/exclusive/1162/arvind-kejriwal-and-manish-sisodia--has-received-400-000-dollars-from-the-ford-foundation-in-the-last-three-years---arundhati-roy/

और निचे देखे सबूत जिसमे अरविन्द केजरीवाल ने कहा की उसने फोर्ड फ़ौदतिओन से करीब ४ लाख डौलर लिए:

http://www.indiatvnews.com/print/news/kejriwal-admits-his-ngo-took-money-from-ford-foundation-2-years-back-10340-1.html

http://www.business-standard.com/article/economy-policy/claims-that-hazare-s-movement-is-us-funded-baseless-arvind-111083100109_1.html

मित्रो इन दोनों लिंकों को पढने के बाद आप समझ सकते है की एक तो अरविन्द केजरीवाल भारत विरोधी फोर्ड फाउंडेशन से पैसे लेते है और फिर झूट कहते है की पैसे नहीं लिए और सबूत दो!

Kejriwal asks Roy, ‘where is the proof’? - Ford Foundation Videos - Firstpost Topicwww.firstpost.com
72824.
Yesterday at 11:50am · Like · 4


Dilip Goyal sala ye to mulla khujliwal h
Yesterday at 11:58am · Like · 2


Dinesh Singh Dudy ye kutta h kaun ??
Yesterday at 12:34pm via mobile · Like


मानष के पल abey alok dixit.. tu samajhta kya hai bey apne aapko.. MC ab "i love pakistan" kehne or maanne waala hame "Bharat" k naam ka arth bataayega.. BC, agar pakistan par itna hee pyaar aa raha tha to wahin jaakar marwaata.. yahaan apni ma-behen kyu ****wa raha hai..
Yesterday at 12:59pm via mobile · Like · 5


Rannvijay Kattar Bhartiya हम उनकी लेते हैं जो पब्लिकली देते हैं !!
Yesterday at 1:06pm via mobile · Like · 3


Girish Manchanda Mujhe nahi pata tere jaise ghatiya log...iss pawan dharti par kahan see aa gaye...Aalok...
Yesterday at 1:42pm · Like · 1


Nishant Sharma agar is desh ka nam akbar hota to tujhhe koi aappatti nai hoti shayad sala tu hinduo ke nam par kalank hai
Yesterday at 2:41pm via mobile · Like · 2


Mukesh Pandey Chandan Itihas ke anusar bharat desh ka naam ek rigvaidik kaleen kabeele "bharat" ke naam par pada hai. dushyant-shakunta ki kahani purano me milti hai, jise itihaskar kalpnik mante gai. bharat kabeele ke bare me jaankari rigved ke saptam mandal me bhi di hai.bharat kabeela us samay ka sabe bda kabeela tha. iski pushti mahabharat se bhi hoti hai.
Yesterday at 2:53pm via mobile · Like · 2


Raghawendra Deo murkh shirmani, bharat nam bharat raja par pada hai ye tumhare jaise satahi jankari log hi bolate hai, bha+rat yani jo prakash (gyan) me rat hai. isiliye maa saraswati ko bharati bhi kahte hai. jaake apani buddhi thodha aur teja karen aur bharat ka atit dhundhane se pahale apana atit dhundhe
Yesterday at 2:59pm · Like · 2


Amarjeet Yadav abe madarchod alok dixit aa karke yahaa jawab to de harrami ki aulad...
baate bolkarke apne maa k bur me kyun chhip jaata hai...
kya tere ko muslmo k itihaas buraai nazar aati hai..
jisme sabse jyada buraai hai uske baare me tu nhi bol sakta kyunki tujhe pata hai vo tere khandaan samet tere raaste pe khada karke chhod dengen aur hum log kuch nhi karenge ye teri sabse badi bhul hai..
vo samay bahut bahut hi karib hai jo tere jaise logo ka safaaya karne ka...
Yesterday at 3:17pm via mobile · Like · 1


Suraj Kanaujia Tumhare jaise logo ki vajah se hi to desh barbaad hai!
Iska matlab aap Ch**¿¥e h!
Yesterday at 3:43pm via mobile · Like


Raj Sharma ये आलोक दीछित नहीं अलोक दूषित है अबे तेरे बाप दादा ने अपने टाईम में कई कुकर्म किये होंगे उनको भी बाप मानना बंद कर दे , डिग्गी के नाजायज भतीजे
Yesterday at 3:52pm via mobile · Like


Kuldeep Rai Gidh kitna bhi uncha kayon na ud le uski drishti murdaar par hi raha karti ha. Answer the questions arose by Charlie Ji and enjoy samvaad instead of vivad.
Yesterday at 4:17pm via mobile · Like


Khagendra Chaudhary M@##@d itna kmina to mt bn ki apne purwajon ko gaali de gali dene k liye to abhi jo hai unko hi de le wahi kafi hain.
Yesterday at 4:43pm · Like


Alok Sharma is gandu ko unfollow karo tabhi chup hoga ye ek publicity whore he thode dino me aoni gand me chadi ghuswa kar nanga nachega
Yesterday at 4:46pm · Like


Veer Prataap Chauhan mai iski maa behan ko gali to nahi nikalunga par ek baat kahunga ki ese kutto ko desh nikala dede na chahiye.......bhaiyo ,bahino humari sanskriti itni badi hai ki use pdte pdte ,smjhte smjhte 2janam nikal jaaye .......
Yesterday at 4:49pm · Like


Veer Prataap Chauhan iski fat ti hai ....ye islam pe kabhi comment nahi kar skta kyo ki ise pata hai ki jis din isne islam pe comment kiya uske agle din ....................2 rocket iske ghar pe aakar ise jawab de jayenge.........bhaiyo ye hi farak hai hum me aur mullo mai.........humne kabhi itihaas mai janwar panti nahi ki
Yesterday at 4:52pm · Like · 1


Alok Sharma iske facts hi galat he kya maullavi ji ne itihas padaya he ya congress ne, iski line dekho:
राजा भरत इतने गवाहों और दबावों के बाद ही क्यूं स्वीकार करते हैं शकुंतला को?
chutiye yahan bharat ka nahi dushyant ka naam ayega, nikame jaha se copy paste kiya tune LOL douchebag
Yesterday at 4:52pm · Like · 3


Rahul Arya Arvind Aryan yahan communiston ka gang**** chal rah hai. aab bhi aa sakte hain
Yesterday at 5:00pm · Like · 1


Arvind Aryan Rahul Arya, जिन भ्रष्टबुद्धि नपुंसकों की गां* में इतना दम नहीं होता कि शकुंतला की नारी-वेदना को तो समझ सकें लेकिन 56 साल के मुहम्मद के बिस्तर पर रौंदी जा रही 9 साल की आयशा के घोर पैशाचिक बाल-बलात्कार का जिक्र करने में उनके पतलून आगे से गीले और पीछे से पीले होने लगें, ऐसे बेशर्म, बेग़ैरत, नीच, गलीज कीड़ों को मैं अपने जूते के नीचे ही रखना पसंद करता हूँ, उन्हें 'बात' करने लायक दर्जा देकर खुद अपने स्तर से गिरना नहीं चाहता!
23 hours ago · Edited · Like · 3


Rahul Arya Arvind मुझे आश्चर्य इस बात का है की ये दो कौड़ी के वामपंथी अभी भी स्वयं को सर्वज्ञानी समझते हैं और हर विषय पे अपनी सस्ती सड़कछाप टिप्पणी छोड़ देते हैं ।
23 hours ago · Like · 3


Rahul Arya "(............ मेरे एक आर्टिकल से कुछ अंश)" = मेरे गटर की कुछ गन्दगी , जिसका सेवन मेरे बाकी वामपंथी शूकर मित्र बड़े चाव से करते हैं
23 hours ago · Like · 3


Arvind Aryan Rahul, असल में इस्लाम के जूते चाटने वाले और हिन्दू धर्म पर ज़हर उगलने वाले वामपंथी कीड़ों के इस तरह के शातिर कमीनेपन के बरक़रार रहने के पीछे सिर्फ और सिर्फ इतनी वजह है कि हिन्दू धर्म के बारे में इस तरह की हरमज़दगी सार्वजनिक रूप से करने के बाद भी इनके टुकड़े-टुकड़े कर के गटर में नहीं फेंके जाते और इस्लाम की गलीज और घिनौनी असयिलत को उजागर करने लायक गूदा इनकी गां* में नहीं होता क्योंकि पता है अगले दिन की सुबह भी नहीं देख पाएंगे ऐसा करने के बाद! जिस दिन इस तरह का हरामीपन करने वाले एक कीड़े के टुकड़े-टुकड़े करके चौराहों पर टांगे जाने की शुरूआत हो गई, बाकी के 5000 कीड़े अपनी मां के कोठे के टॉयलेट में घुसे पाएंगे! आग़ाज़ ज़रूरी है अब इसका, जल्द से जल्द, किसी भी तरह से!!
23 hours ago · Like · 4


Arvind Aryan आदेश शुक्ला जी, यहां आएं और देखें, अपनी मां के साथ बलात् संभोग करने पर कैसी 'रचनात्मकता' उपजती है 'गलीज रचनाकारों' के सड़े हुए घिनौने मलाशयों में, जो ग़लती से उनके सिर में पाया जाता है!!
23 hours ago · Edited · Like · 5


Ajay Shukla ye kisi vichardhara ka vyakti nahi hai, inko apni dukan chalane ke liye yadi apne swajano ki bhi nagn pradrashani lagani pade to laga lenge. ye mf husain ki vaicharik paidaish lagte hai..
23 hours ago · Like · 2


Arvind Aryan कुलदीप शर्मा, Seema Sharma, Randhir Chaudhary Panipatiya, Stakshi Dogra यहां आइए और इस गलीज वामपंथी कीड़े को इसकी औकात दिखाइए ज़रा!!
22 hours ago · Like · 4


आदेश शुक्ला मैं यह जानना चाहूँगा कि क्या आप वर्तमान में युवाओं के लिव इन में रहने और बिना शादी के सेक्स करने को गलत मानते हैं यदि नहीं तो फिर यह विरोध कैसा .बहु पत्नी प्रथा तब हर संस्कृति में थी खासकर राजाओं के मामले में ,फिर ऐसी हाय तौबा क्यों .क्या वर्तमान में कोई लड़की खासकर नारी मुक्ति का आन्दोलन चलाने वाली बिना सेक्स के गर्भवती हो जाती है तो बच्चे कि जिम्मेदारी ही पुरुष को देगी या अपनी भी .

इसके अतिरिक्त इसे इतिहास कार मिथक मानते है तो अंगूठी वाली बात कहानी से निकाली तो नहीं जा सकती @Alok Dixit
22 hours ago · Like · 2


Arvind Aryan आदेश जी, इन भ्रष्टबुद्धियों का एकमेव काम किसी भी तरह से हिन्दू धर्म को गाली देना और इस्लाम की गलाजत के बारे में या आज के दौर की उसी किस्म की किसी भी समस्या के बारे में पूरी बेशर्मी और कमीनेपन से चुप्पी साधे रहना है! और इस प्रकार का बौद्धिक आतंकवाद सिर्फ और सिर्फ इसलिए जिंदा है कि हम इन्हें जिंदा रहने का मौका दे रहे हैं इतना घिनौनापन करने के बाद भी!!
22 hours ago · Like · 7


आदेश शुक्ला और तब लोकतंत्र नहीं था इसलिए लोकतंत्र के मानकों पर उस युग को कसौटी पर कसने के बजाय आज के युग को कसे .बदल दीजिये भारत का नाम फिर हिसाब से शायद आपको हर नाम बदलना पडेगा
22 hours ago · Like · 4


महेन्द्र सालवी Alok ji. Aap bimar hai. Mental hospital jaiye.
22 hours ago via mobile · Like · 3


कुलदीप शर्मा मुझे लगता है इन श्री मान चुतिया महोदय को आज तक अपने असली पिता का नाम नहीं पता तो इतिहास का ज्ञान इस भडुए को हो ऐसा तो नामुमकिन है.... चलो कोई बात नहीं ऐसे भडुओं के लिए ही हम यहाँ आये हैं तो सुन मेरे बेटे कि भारत का नाम भारत असल में कैसे पड़ा "भारत नाम की उत्पति का सम्बंध प्राचीन भारत के चक्रवर्ती सम्राट, मनु के वंशज भगवान ऋषभदेव के पु्त्र भरत से है। भरत एक प्रतापी राजा एवं महान भक्त थे। श्रीमद्भागवत के पञ्चम स्कन्ध एवं जैन ग्रन्थों में उनके जीवन एवं अन्य जन्मों का वर्णन आता है।
भारतीय दर्शन के अनुसार सृष्टि उत्पत्ति के पश्चात ब्रह्मा के मानस पुत्र स्वायंभुव मनु ने व्यवस्था सम्भाली। इनके दो पुत्र, प्रियव्रत और उत्तानपाद थे। उत्तानपाद भक्त ध्रुव के पिता थे। इन्हीं प्रियव्रत के दस पुत्र थे। तीन पुत्र बाल्यकाल से ही विरक्त थे। इस कारण प्रियव्रत ने पृथ्वी को सात भागों में विभक्त कर एक-एक भाग प्रत्येक पुत्र को सौंप दिया। इन्हीं में से एक थे आग्नीध्र जिन्हें जम्बूद्वीप का शासन कार्य सौंपा गया। वृद्धावस्था में आग्नीध्र ने अपने नौ पुत्रों को जम्बूद्वीप के विभिन्न नौ स्थानों का शासन दायित्व सौंपा। इन नौ पुत्रों में सबसे बड़े थे नाभि जिन्हें हिमवर्ष का भू-भाग मिला। इन्होंने हिमवर्ष को स्वयं के नाम अजनाभ से जोड़कर अजनाभवर्ष प्रचारित किया। राजा नाभि के पुत्र थे ऋषभ। ऋषभदेव के सौ पुत्रों में भरत ज्येष्ठ एवं सबसे गुणवान थे। ऋषभदेव ने वानप्रस्थ लेने पर उन्हें राजपाट सौंप दिया। पहले भारतवर्ष का नाम ॠषभदेव के पिता नाभिराज के नाम पर अजनाभवर्ष प्रसिद्ध था। भरत के नाम से ही लोग अजनाभखण्ड को भारतवर्ष कहने लगे। विष्णु पुराण में उल्लेख आता है "ततश्च भारतवर्ष तल्लो केषु गीयते" अर्थात् "तभी से इस देश को भारत वर्ष कहा जाने लगा"। वायु पुराण भी कहता है कि इससे पहले भारतवर्ष का नाम हिमवर्ष था।
श्रीमद्भागवत के अनुसार:[1]
येषां खलु महायोगी भरतो ज्येष्ठः श्रेष्ठगुण आसीद्येनेदं वर्षं भारतमिति व्यपदिशन्ति॥९॥
अर्थात्
उनमें (सौ पुत्रों में) महायोगी भरतजी सबसे बड़े और सबसे अधिक गुणवान् थे। उन्हीं के नाम से लोग इस अजनाभखण्ड को भारतवर्ष कहने लगे॥९॥
दो अध्याय बाद इसी बात को फिर से दोहराया गया है। एक अन्य स्थान पर भागवत में लिखा है "अजनाभ नामैतद्वर्ष भारत मिति यत् आरंभ्य व्यपदिशन्ति" अर्थात् "इस वर्ष को जिसका नाम अजनाभ वर्ष था तबसे (ऋषभ पुत्र भरत के समय से) भारत वर्ष कहते हैं"।
22 hours ago · Like · 11


Randhir Chaudhary Panipatiya इन वाम पंथियों ने पाकिस्तान के निर्माण और भारत के विभाजन में प्रमुख भूमिका निभाई पाकिस्तान बनते ही कट मुल्लों ने सबसे पहले इन वाम पंथियों को सूली प चढा दिया मगर भारत में हम ऐसा नहीं कर सके आज वाम पन्थ वो नासूर बन चूका है जिसमे इन्फेक्सन होकर देश के जख्म को सदा सदा के लिए सदाबहार बना दिया है बंगाल में तीन दशक के शासन में वाम पंथियों ने बंगाल को उस मुकाम पर ला खड़ा किया जिस मुकाम पर एक असफल राज्य खड़ा होता है इन्होने हर तरह से एक समृद्ध राज्य को नर्क में बदल दिया
22 hours ago · Like · 3


अनिल गुप्ता अरुण अरोराजी जिसका नाम जन्म से और कर्म से उल्लू ही है उसका उल्लू नाम रखो या न रखो वो रहेगा तो उल्लू और कहलायेगा उल्लू का पठा
22 hours ago · Like · 5


Rahul Arya कुलदीप शर्मा ji , chha gaye tussi. wah kya likha hai
22 hours ago · Like · 3


Arvind Aryan कुलदीप शर्मा जी, ज़बर्दस्त तरीके से मुंह तोड़ा आपने!
22 hours ago · Like · 4


Randhir Chaudhary Panipatiya ये कुत्ते वाम पंथी हिंदू विरोधी इस लिए है ताकि इस्लामी जेहादिओं को खुस रख सके पर हमेशा इन वाम पंथियों का खात्मा इस्लामी कुत्तों ने ही किया है सोवियत संघ रूस को ही देख लीजिए
22 hours ago · Like · 6


अनिल गुप्ता मित्रो असल में इनकी माँ ने इन्हें बता दिया की तुम्हारे अन्दर हिन्दुओ का खून नहीं हिन्दुओ से निकले किसी भरष्ट का खून है
22 hours ago · Like · 7


अरुण अरोरा भी अभी प्राप्त समाचारो के अनुसार आलोक दिक्षित की मा ने प्रेस को बताया है आप पार्टी एव्म फोर्ड फाउंदेशन के दलालो के स्पर्म के चंदे से प्राप्त नाली रत्न आलोक के पिता का नाम डे एन ए टेस्त मे भी नही पता लग पाया ...ाब कितने लोग उस समय आते जाते रहते थे इसकी जानकारी उन्हे भी नही है ....
22 hours ago · Like · 11


Arvind Aryan Randhir Chaudhary Panipatiya जी, बिल्कुल सही कहा आपने - पाकिस्तान, ईरान, सऊदी अरब, लेबनान, सीरिया, यमन - हर इस्लामी मुल्क में वामपंथियों को 50 गज ज़मीन से नीचे गाड़ा जाता है और इससे ऊपर की जगह नहीं मिलती सांस लेने को - बाकी तो छोड़ ही दें! वैसे अब वक्‍़त आ गया है कि पिछली ग़लती को सुधार कर अब इस नासूर को जड़ से उखाड़ कर इसकी मवाद यानि इस तरह के कीड़ों को इनकी सही जगह यानि गंदी नाली के हवाले किया जाए - पूरी तरह से टुकड़े-टुकड़े करने के बाद!!
22 hours ago · Edited · Like · 6


Arvind Aryan अरुण अरोरा जी, लाजवाब!!
22 hours ago · Like · 2


Dubey Prataanshu अव्वल तो यह एक हिन्दू नहीं है... नाम तो इसने पंडितों वाला रख लिया है किन्तु भाषा एवं ज्ञान से यह किसी जानवर से कम नहीं लग रहा... अब जानवर की ये कौन सी नई प्रजाति विकसित हुई है ये अवश्य ही शोध का विषय है...
22 hours ago via mobile · Like · 8


अरुण अरोरा ये साला नाली का कीडा फरजी नाम से गम्दगी फैलाने मे लगा है ...
22 hours ago · Like · 5


Deepak Thakur Acha hota post daalne se itihaas ho achi tarah read kr lete .
Ot agr thoda bhot dimag diya h bhahwaan ne uska use bhi kr lete.. DIXIT JI
22 hours ago via mobile · Like · 3


आदेश शुक्ला शादियाँ तो माओ ने भी कीं खूब
22 hours ago · Like · 3


Rahul Arya आप कुछ भी कह लो Arvind भाई , ये वामपंथी हमें ब्लाक करेगा और फिर कहेगा "ये निकर वाले आतंकवादी आज भी नारी को अपने पैरों की जूती समझते हैं , इनके लिए शकुंतला की करुण वेदना कुछ भी नहीं "
उर्दू में व्यक्त करें तो "मैं इनके रग -रग से वाकिफ हूँ "
22 hours ago · Edited · Like · 5


अनिल गुप्ता मित्रो देख लीजीये बकवास गलीज वर्तमान शिक्षा का असर अलोक दीक्षित जैसे सुवर इसके उद्धरण है
22 hours ago · Like · 6


Arvind Aryan इस्लाम की क्रूर, बर्बर, कुटिल एवं पाशविक नीति को हर प्रकार के घटिया, नीच एवं गलीज एवं बेशर्म कुतर्कों से ढंकने-छिपाने एवं उचित साबित करने के कुत्सित एवं घृणित प्रयास करते पाशविक एवं पैशाचिक वृत्ति वाले घिनौने वामपंथियों की असलियत को पूरी बेबाकी से सामने रखता दो भागों में विभक्त एक अत्यधिक विचारोत्तेजक तथा पठनीय आलेख:

http://www.scribd.com/doc/124473286

वामपं‍थ की इस्लामपरस्ती - एस. शंकर - भाग 01 - Vaampanth Ki Islam-Parasti - S. Shankar - Part 01www.scribd.com
<​p> इस्लाम की क्रूर, बर्बर, कुटिल एवं पाशविक नीति को हर प्रकार के गलीज एवं बे...See More
22 hours ago · Like · 2


अरुण अरोरा यहा आप इसे डायरेक्ट गरिया सकते है ..074 99 219770 इतना गरियाये कि साला फोन उठाना ही भूल जाये
22 hours ago · Like · 6


ਦਿਲਰਾਜ ਕੌਰ @alok dixit जितनी रुची तुमने इतिहास के पन्ने खंगाल कर मिथक जुटाने में दिखाई हैं, इसकी एक-चौथाई भी यदि अपने असल पिता के पुष्टिकरण में दिखाई होती तो आज सार्वजनिक रुप से सर्वसहमति से पहनाए गए इस "हरामज़दगी" के तमगे से बच सकते थे....... खैर उपरोक्त टिप्पणियों में मेरे सभी राष्ट्रवादी मित्रों द्वारा तुम्हे नवाजे जाने के बाद मेरे नाज़ुक कंधों पर कुछ अधिक दायित्व नहीं रह जाता तो मैं बस एक बार तुम्हारे मुँह पर और तुम्हारी पैदाइश पर थूक कर विदा लेती हूँ- "आक थू !!!!!"
19 hours ago via mobile · Edited · Like · 9


Ravi Tiwari Alok Dixit तुम सबसे बड़े देशद्रोही हो और सनातन धर्म के दुश्मन हो ! मुर्ख की जमात में रहते रहते तुम्हारी बुद्धि भी पाकिस्तानी हो चुकी है !
22 hours ago · Like · 5


सुशील कुमार् तिवारी Jab g.074 99 219770
22 hours ago · Like · 1


Kashinath Vajpai Why this man is burdening his name with a 'sir' name 'dixit'..(a history) he should have changed it with something borrowed from Shakespeare! He could have been borrowed by his ideals who named this country 'India' ! Shallow knowledge leads to disaster, and his point here reflect the same...owl might be his ideal leader i suppose...
22 hours ago · Like · 4


Sachin Tyagi आज तूने साबित कर दिया की तू किसी नाजायज की ही औलाद हे वेसे भी मुझे बहुत दिनों से तुझ पर संदेह था पहले पूरी जानकारी हासिल कर लेता तो यहाँ पर कुछ लिखने से पहले थोड़ी इसके बारे में जानकारी भी हो जाती
22 hours ago · Edited · Like · 4


Arvind Aryan हा हा हा, एक वार में ही काम-‍तमाम कर दिया तूने इस हरमज़दगी के शिकार नीच कीड़े काਦਿਲਰਾਜ, एकदम सही वार!
22 hours ago · Like · 3


Subhash Gupta arun arora ji.......................Aj dekh liya ki gandi naali ka keeda FB pe ........AISHA dikhta hain,,,,,,,ha ha ha haaaaaa.
22 hours ago via mobile · Like · 3


Sandip Awaara 100 caror ka effect ........ jise kisi party ne diya tha haal hi mee
22 hours ago · Like · 3


Sandip Awaara achha use ho raha hai us fund ka
22 hours ago · Like · 1


Sandip Awaara abhi to pata nahi aur keya keya hoga
22 hours ago · Like · 1


Shyam Vishwakarma Alok Dixit जी लगता है आप को किसी पागल कुत्ते ने काट लिया है.........
22 hours ago · Like


Ravi Tiwari अब तो पक्का विश्वाश हो गया है की तुम गलती से पैदा हुए हो !
22 hours ago · Like · 1


Arvind Aryan Sandip Awaara जी, चिंता न करें, इस 100 करोड़ के एक-एक रुपए के बदले ऐसे हरमज़दगीशुदा कीड़े इतने जूते खाएंगे इसी तरह सार्वजनिक रूप से और फिर भी बाज़ न आए तो सड़कों पर, के भूल जाएंगे कि किसी औरत के गर्भ से पैदा हुए थे या किसी सड़क चलती कुतिया के गर्भ से! (सभी पशुओं के प्रति मेरा पूरा प्रेम व सम्मान, कोई मादा कुक्कुर मेरे इस कमेंट पर कतई दु:ख अथवा क्षोभ का अनुभव न करें, मुझे पूरा विश्वास है हर मादा कुक्कुर के सारे बच्चे अर्थात सभी पिल्ले इस गलीज कीड़े से कई गुना अधिक समझ एवं स्वाभिमान के स्वामी होंगे)
22 hours ago · Like · 1


Lok Ranjan Pal ise kahte hain myths se apne ullu sidhe karna. mahoday litetature aur history me ek bhed hai aur fir jhuths hi sahi apne baap par sabko naaz hota hai , jhuths hi sahi, mano na mano tumhe bhi bharosa hoga hi ki tum jayaj aulad ho. sunkar hi kiya na, vaise social structute aur tatkalin paristhitiyon ko aaj ke sandatbh me na dekhen.
22 hours ago via mobile · Like · 1


Braj Kishor Yadav Abe Pagla Gaya hai Kya.?
22 hours ago · Like · 2


सुशील कुमार् तिवारी done /....... kahta hai facebook kee baato ko facebook tak rahiye .....mitro please call and tell him the truth ///.074 99 219770 ........o.ntforget @alok dixit All India Anti Reservation Front
22 hours ago · Like · 1


सुशील कुमार् तिवारी mai phone kar chuka hu agla nambar kiska hai
22 hours ago · Like · 1


Akash Dwivedi आलोक दीक्षित तुम्हारे मानसिक दिवालियेपन मे हसूँ या गाली दूँ अभी तो बस यही यक्ष प्रश्न मेरे समाने खड़ा है !
22 hours ago via mobile · Like · 3


Ravi Tiwari एक दिन तुम्हारी हालत ऐसी हो जायेगी की दिल्ली में आवारा कुते की तरह घूमते रहोगे और गटर में पाए जाओगे ! जो भी आएगा वो गरियाएगा ही और तुम इसी तरह गंदा खाते रहोगे !
22 hours ago · Like · 1


Prakash Mishra Akhand Hinduwadi bhai mere iski baat ka bura mat mano darasal ye apni kahani suna raha hi bahut galat hua iske sath iski nani kisi ke sath soi phir iski maa hui ab kay bolu isko bhai
22 hours ago · Like


Arvind Aryan अंकुर मिश्र भाई, यहां आइए ओर एक घिनौने पशु के दर्शन आप भी कर लीजिए!
22 hours ago · Like · 2


Saurabh Chatterjee Dick Shit your brains like Shit
22 hours ago · Like · 1


Arvind Aryan आप भी तशरीफ लाएं Priyanka जी!
22 hours ago · Like · 3


Sakshi Thakur आपके अनुसार भारत का नाम मुगालिस्तान होना चाहिए जो एक धर्म निरपेक्ष नाम है।
यहीं कहना चाहते है न आप।
अजीब बात है, किसी देश का नाम उसके राजा के नाम पर नहीं तो दुश्मनों के नाम पर रखा जाना चाहिए।
22 hours ago via mobile · Like · 3


Ravi Tiwari यहा आप इसे डायरेक्ट गरिया सकते है ..074 99 219770 इतना गरियाये कि साला फोन उठाना ही भूल जाये
22 hours ago · Like · 7


अंकुर मिश्र proud to be a pakistani hai ye
22 hours ago · Like · 4


सुशील कुमार् तिवारी ankur isko facebook kee takat dikha do ...kahta hai facebook kee baate facebook tak rakhega .074 99 219770
22 hours ago · Like · 3


अंकुर मिश्र हीरा मंडी की पैदाइश .......इधार आ बे मादरचोद ......
22 hours ago · Like · 4


Randhir Jaat Arya सेवा में




श्री मान S.H.O. साहब



कोतवाली जंतर मंत्र दिल्ली



पो.बो.न. ११०००१

विषय : अपराधियों के विरुद्ध समुचित कार्यवाही हेतु निवेदन

मान्यवर ,
पिछले दिनों अन्ना हजारे के अनशन के दौरान कुछ लोगो द्वारा जबरदस्ती उपवास स्थल के पीछे मेरी गांड मार ली और मैं देखता रह गया इसके बाद मैंने कई बार रपट लिखानी चाय पर मेरी किसी ने नहीं सुनी अत; आपसे निवेदन है उन अज्ञात लोगों के खिलाफ कोई कारवाई करे !

धन्यवाद ! ............................. मेरा नाम आलोक दीक्षित है मैं कानपूर उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ पेशे से शोकिया गांडू हूँ ! और ये मेरा खानदानी पेशा है ! भवदीय
22 hours ago · Like · 4


Rahul Arya Arvind ji अब मुझे इनसे कोई व्याधि नहीं रही .. इनके इस 'लेखनी' के कारण देखो कितना राष्ट्रवादी एक जगह इकठ्ठे हुए । कुछ और एकत्रित हो जायें तो 'Occupy JNU' हो जायेगा
22 hours ago · Like · 5


Braj Kishor Yadav अबे टूथपेस्ट से निकले हुए झाग पहले अपनी जानकारी बड़ा ले फिर बात करना ..
22 hours ago · Edited · Like · 3


Avi Agnihotri ये मादरचोद आगरा के लोहामंडी की पैदाइश है इसकी माँ की चूत मदरछोड़ साला
22 hours ago via mobile · Like · 3


आनन्द भट्ट 'वीर सावरकर' @ आलोक दीक्षित.. शौचालयी सोच को
थोडा और विस्तीर्ण करिये और अपने
माता-पिता पर भी छद्म शोध कीजिए ।

कही वास्तव में वो आपके माँ-बाप हैं या
नहीं या कोई और ही आपके माँ बाप हैं ।
यह आपका अधिकार है..
जरुर शोध करिएगा....

22 hours ago via mobile · Like · 7


Avi Agnihotri चला है मादरचोद नेता बन्ने कुत्ता पार्टी का सूअर की नस्ल पाकिस्तानी
22 hours ago via mobile · Like


Arvind Aryan सब आपका ही करम है Rahul Arya साहब!
22 hours ago · Like · 2


अंकुर मिश्र मोदी जी का १ भाषण क्या हुआ कोल्कता में ......बंगाल से लेकर दिल्ली तक चूल्हे हिल गए है लाल वालू की
22 hours ago · Like · 3


Vijay Dutt achhi kahani hai.......
22 hours ago · Like


Ignited Mind आलोक को छोड़कर बाकि लोग पढ़ें ,क्यूंकि कुत्तों को घी हजम नहीं होता , भा + रत = भारत
(संस्कृति का सन्देश, स्वाभिमान का प्रतीक)
भारत उस देश का नाम है, जो अपने में एक
विशिष्ट आध्यात्मिक संस्कृति को संजोए हुए है।
भारत : भा= 'प्रकाश और ज्ञान' + रत= 'लीन'
अर्थात जो देश प्रकाश, ज्ञान और आनंद
की साधना में संलग्न रहा है, उसी का नाम है
भारत।
भारत विश्वगुरु रहा है उसी ने बहुत पहले यह
उदघोष किया -
॥ असतो माँ सदगमय, तमसो माँ ज्योतिर्गमय,
मृत्योर्मा अमृतं गमय ॥
अर्थात असत्य से सत्य की ओर, अंधकार से
प्रकाश की ओर और मृत्यु से अमरत्व की ओर
बढ़ना।
"अंग्रेजो ने भारत को इंडिया नाम दिया"
इस शब्द में वह शक्ति नहीं है, जो भारत के
उपरोक्त गुणों को ध्वनित और व्यंजित कर सके,
भारत के इंडिया शब्द का प्रयोग स्पष्ट करता है
की भले ही अंग्रेजो की गुलामी से हम स्वतंत्र
हो गए हैं, पर मानसिक दासता से अभी भी मुक्त
नहीं हो सके हैं।
22 hours ago · Edited · Like · 6


Randhir Jaat Arya सेवा में




श्री मान S.H.O. साहब



कोतवाली जंतर मंत्र दिल्ली



पो.बो.न. ११०००१

विषय : अपराधियों के विरुद्ध समुचित कार्यवाही हेतु निवेदन

मान्यवर ,
पिछले दिनों अन्ना हजारे के अनशन के दौरान कुछ लोगो द्वारा जबरदस्ती उपवास स्थल के पीछे मेरी गांड मार ली और मैं देखता रह गया इसके बाद मैंने कई बार रपट लिखानी चाय पर मेरी किसी ने नहीं सुनी अत; आपसे निवेदन है उन अज्ञात लोगों के खिलाफ कोई कारवाई करे !

धन्यवाद ! ............................. मेरा नाम आलोक दीक्षित है मैं कानपूर उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ पेशे से शोकिया गांडू हूँ !
22 hours ago · Like · 3


Randhir Jaat Arya इस मादर छोड़ की हर पोस्ट पे इसकी माँ चोदो
22 hours ago · Like · 1


रवि राज सैनी kaise kaise log janam lete hai is pawan bumi par i
22 hours ago · Like · 2


Randhir Jaat Arya सेवा में




श्री मान S.H.O. साहब



कोतवाली जंतर मंत्र दिल्ली



पो.बो.न. ११०००१

विषय : अपराधियों के विरुद्ध समुचित कार्यवाही हेतु निवेदन

मान्यवर ,
पिछले दिनों अन्ना हजारे के अनशन के दौरान कुछ लोगो द्वारा जबरदस्ती उपवास स्थल के पीछे मेरी गांड मार ली और मैं देखता रह गया इसके बाद मैंने कई बार रपट लिखानी चाय पर मेरी किसी ने नहीं सुनी अत; आपसे निवेदन है उन अज्ञात लोगों के खिलाफ कोई कारवाई करे !

धन्यवाद ! ............................. मेरा नाम आलोक दीक्षित है मैं कानपूर उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ पेशे से शोकिया गांडू हूँ !
22 hours ago · Like · 1


Vijay Dutt avi agnihotri ji......Kia aap bhi Lohamadi ki paidash ho........bhai ko jaldi pehchan lia........Durlanat hai aissee bhasha use kaney per
22 hours ago · Like


Randhir Jaat Arya सेवा में




श्री मान S.H.O. साहब



कोतवाली जंतर मंत्र दिल्ली



पो.बो.न. ११०००१

विषय : अपराधियों के विरुद्ध समुचित कार्यवाही हेतु निवेदन

मान्यवर ,
पिछले दिनों अन्ना हजारे के अनशन के दौरान कुछ लोगो द्वारा जबरदस्ती उपवास स्थल के पीछे मेरी गांड मार ली और मैं देखता रह गया इसके बाद मैंने कई बार रपट लिखानी चाय पर मेरी किसी ने नहीं सुनी अत; आपसे निवेदन है उन अज्ञात लोगों के खिलाफ कोई कारवाई करे !

धन्यवाद ! ............................. मेरा नाम Alok Dixit है मैं कानपूर उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ पेशे से शोकिया गांडू हूँ !
22 hours ago · Like · 2


Rahul Arya राष्ट्रवादी मित्रों , सुनिए एक राष्ट्रवादी से :http://www.scribd.com/doc/100900387/%E0%A4%B8%E0%A4%BE%E0%A4%AE%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%A6-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%B8%E0%A5%8C-%E0%A4%85%E0%A4%AA%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%A7-%E0%A4%B6%E0%A4%82%E0%A4%95%E0%A4%B0-%E0%A4%B6%E0%A4%B0%E0%A4%A3-Samyavaad-Ke-Sau-Apradh-Shankar-Sharan

साम्यवाद के सौ अपराध - शंकर शरण - Samyavaad Ke Sau Apradh - Shankar Sharanhi.scribd.com
-शंकर शरण वष 1991 म सो वयत संघ और उससे कछ ह पहले कई अ य दे श म सा यवाद ु क बाद उनक संपूण इितहास का मू यांकन अपे े े यव थाओं क वघटन े
22 hours ago · Like · 1


Randhir Jaat Arya ek or aa gya hrami Vijay Dutt
22 hours ago · Like · 1


Jitender Ahlawat बहनचोद गांडू ।।।।।
साले सामने आजा एक बार खुजलीवाले कुत्ते
22 hours ago via mobile · Like · 2


Randhir Jaat Arya सेवा में




श्री मान S.H.O. साहब



कोतवाली जंतर मंत्र दिल्ली



पो.बो.न. ११०००१

विषय : अपराधियों के विरुद्ध समुचित कार्यवाही हेतु निवेदन

मान्यवर ,
पिछले दिनों अन्ना हजारे के अनशन के दौरान कुछ लोगो द्वारा जबरदस्ती उपवास स्थल के पीछे मेरी गांड मार ली और मैं देखता रह गया इसके बाद मैंने कई बार रपट लिखानी चाय पर मेरी किसी ने नहीं सुनी अत; आपसे निवेदन है उन अज्ञात लोगों के खिलाफ कोई कारवाई करे !

धन्यवाद ! ............................. मेरा नाम http://www.facebook.com/vijay.dutt.75 है मैं कानपूर उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ पेशे से शोकिया गांडू हूँ !

Vijay Dutt
Male
22 hours ago · Like · 2


Avi Agnihotri मादार्चोड दम है तो बैन न करना।।।
22 hours ago via mobile · Like · 1


Ashish Arya Commies MUST DIE.. Its better DEAD, then RED.
22 hours ago · Like · 2


Ignited Mind ऊपर के मेरे कमेन्ट में कुत्तों का सन्दर्भ आया है , इस विचित्र घृणित जीव के साथ वफादार कुत्ता प्रजाति की तुलना करने का प्रयास नहीं किया है , क्यूंकि कुत्ता भी जिसका खाता है उसका तो वफादार होता है, पर मुहावरा ही कुछ ऐसा है अतः सभी वफादार कुत्तों से क्षमा के साथ मेरे उपरोक्त कमेन्ट को पढ़ा जावे...
22 hours ago · Like · 3


अंकुर मिश्र विजय दत्त कोई अगर भारत के खिलाफ बोलता है तो उसकी हम आरती नहीं उतारते मैया चोदते है ....तुम भी बोलकर देख लो ...तुम्हारे मैय्या भी कब्र से निकाल कर चोद देंगे
22 hours ago · Like · 2


Randhir Jaat Arya इस कुत्ते को रिपोर्ट और ब्लोक करो सब लोग और इसके पेज को भी बंद कराओ रिपोर्ट करकेAlok Dixit ये इसके पेज का लिंक
22 hours ago · Like · 3


Avi Agnihotri कितना मादरचोद है मज़े ले रहा है अपनी माँ चुदते हुए देखने में
22 hours ago via mobile · Like · 2


Randhir Jaat Arya ये vijay Dutt भी मादर चोद हिंदू विरोधी और मुस्लिमों का दल्ला है इसकी भी मार लो साले की साथ ही
22 hours ago · Like · 3


Ignited Mind जो भारत को इंडिया कहते है
वे मात्र मेकोले के दिये वचनो का पालन कर रहे है, अतः कृपया अपने मूल पिता और वंश की खोज करें , भारत क्या है , भारत नाम कैसे आया , क्या इतिहास है ये सब शोध इतिहासकारों के लिए छोड़ दें क्यूंकि आपको घी हजम नहीं होगा
22 hours ago · Like · 3


Randhir Jaat Arya ये सब कुत्ते अन्ना आंदोलन से पैदा हुए है और केजरीवाल के भाई नाजायज़ बहन है साले
22 hours ago · Like · 1


Ashish Arya History shows us some of the ways that communism is forced upon a society. It has almost always been a slow takeover, more similar to the proverbial frog in boiling water.
The temperature of the water is turned up slowly and the frog doesn’t realize he’s being boiled until it’s too late..
Communism is a Cancer.
22 hours ago · Like


सुशील कुमार् तिवारी Arvind Kejriwal-A Christian Missionary
22 hours ago · Like · 3


सुशील कुमार् तिवारी Faisal Khan
22 hours ago · Like · 1


Ashish Arya Communism

By the time the people realize that the government has too much power they must act before it is too late. Because the government or political party who wants to impose communism will continually seek more power and expand itself infinitely. It will invent new ways to tax citizens and remove their power over their own lives. The people must never give the government the benefit of the doubt but should always look on government growth with a skeptical and cautious eye.
22 hours ago · Like · 2


Ignited Mind सभी से से अनुरोध है कृपया गालियों का प्रयोग ना करें , तर्क और व्यंग्य से बात रखें...
22 hours ago · Like · 4


Randhir Jaat Arya इस कुत्ते से कैसे तर्क ?? मादर चोद हो माँ चुदवाना है इसका पेशा है यकीं ना हो तो किसी पठान से पूछ लीजिए
21 hours ago · Like · 1


Ashish Arya Thomas Jefferson on Communism:
A government big enough to give you everything you want, is strong enough to take everything you have.
21 hours ago · Like


Avinash Bhardwaj Pagala Gaya Hain Kya Alokoa??
21 hours ago via mobile · Like · 3


सुशील कुमार् तिवारी ye samay barbaad karwa raha hai sabka .....abhee sirf ek mission .....narendr modi ..alok jara fursat ho jaane do fir batate hai
21 hours ago · Like · 3


सुशील कुमार् तिवारी BJP Unnao U.P.
21 hours ago · Like · 2


Avinash Bhardwaj Bharat Naam Nahi To Kya Mughalistan Rakhenge
21 hours ago via mobile · Like · 3


Umesh Bharti Mujhe lagta h ye sale(alok dixit,vijay datt aur aseem trivedi) kisi ahmad wahmad ki dogli aulade hain. par aisa kahne se bhi inhe khushi hi hogi! ye kyo nahi apna kala muh lekar inki asli jagah porkistan chale jate? yahi ka namak khakar mere hi bharat ko kyo gariyate rahte h ye sale marx ki aulad? akk thoooooooooooooooooo.......
bharat mata ki jay!!!
21 hours ago via mobile · Like · 4


सुशील कुमार् तिवारी आशुतोष दीक्षित मोदी भक्त Vinay Trivedi
21 hours ago · Like · 1


Virendra Kumar Rathore ये लिखने वाला केवल इस्लामिक प्रभाव मे आया व्यक्ति है या यु कहे मुहम्मद और अरबियो के चाटने वाला व्यक्ति है जो पर्दा प्रथा औरतो पर अत्याचार शर्म हया जायज नाजायज जैसे कुरान की भाषा . मुर्ख भारत कि वास्तविक सन्स्क्रीति नही बल्कि आज कि इस्लामिक कुप्रथा के बारे मे बोल रहा है
21 hours ago · Like · 4


Randhir Jaat Arya जिन 70 लोगों ने इसकी यह पोस्ट लाइक करी है उनके बारे में भी दो शब्द बोल दो राष्ट्रवादी मित्रों
21 hours ago · Like · 2


सुशील कुमार् तिवारी randhir bhai ....jay ma bhaarti
21 hours ago · Like · 1


सुशील कुमार् तिवारी sabhee modi samarthko ko ek jagah karne ke liye ......patthar fenka is ne ham usee se ghar banaa kar dikhayenge @alok dixit
21 hours ago · Like · 2


सुशील कुमार् तिवारी jald jude nahee to aise keedo kee fauj khadi ho jayegee
21 hours ago · Like · 2


Sakshi Thakur सच्चाई
हमारी न्यायलय व्यवस्था

एक जंगल में गाय भागती हुई जा रही थी हाथी ने उसे रोक के उससे भागने का कारण पुछा गाय ने कहा जंगल के सरे बैलो को पकड़ने का आदेश आया है ।
हाथी ने कहा :- तुम क्यों भाग रही हो तुम तो गाय हो ।

गाय ने कहा :- मैं गाय तो हु लेकिन अगर मुझे पकड़ लिया तो २० साल मुझे ये साबित करने में लग जाएगा की मैं गाय हु ।

ये सुन कर गाय और हाथी साथ साथ भागने लगे ।
Join this page
सच्चाई
..... ..... .....
सच्चाई
.... ..... .....
सच्चाई
..... ..... .....
सच्चाई
21 hours ago via mobile · Like · 3


Sakshi Thakur सच्चाई
हमारी न्यायलय व्यवस्था

एक जंगल में गाय भागती हुई जा रही थी हाथी ने उसे रोक के उससे भागने का कारण पुछा गाय ने कहा जंगल के सरे बैलो को पकड़ने का आदेश आया है ।
हाथी ने कहा :- तुम क्यों भाग रही हो तुम तो गाय हो ।

गाय ने कहा :- मैं गाय तो हु लेकिन अगर मुझे पकड़ लिया तो २० साल मुझे ये साबित करने में लग जाएगा की मैं गाय हु ।

ये सुन कर गाय और हाथी साथ साथ भागने लगे ।
Join this page
सच्चाई
..... ..... .....
सच्चाई
.... ..... .....
सच्चाई
..... ..... .....
सच्चाई
21 hours ago via mobile · Like · 2


सुशील कुमार् तिवारी sakshi thaku @@ ye ham mitro ek kar dega ....ham bhed nahee
21 hours ago · Like · 2


Randhir Jaat Arya इधर खुदा है उधर खुदा है जिधर नहीं खुदा है उधर कल खुदेगा
21 hours ago · Like


Randhir Jaat Arya सुशिल भाई कैसे हो ??
21 hours ago · Like · 1


Avinash Bhardwaj Bharat Dunia Ka Sabse Taaqatwar Raja Tha. Bachpan Mein Sherni ke Baccho Ke Saath Kheltaa Tha aur Tu Sala Ek cocoroach se Dartaa Hoga aur Baat Kar Raha Hain Bharat Ke Khilaf
21 hours ago via mobile · Like · 4


Randhir Jaat Arya अगर माँ का दूध पिया है तो इतने लोगों की बातों का कोई जवाब नहीं देता सुवर ??? कैसा लेखक है रे तू ?? इतनी सुनकर भी चुप है पिल्ले
21 hours ago · Like · 3


Ajay Pratap Singh Kaurav Bhosdike tu madarchod pandit hai kya tere baap ka naam pe rakhe desh ka naam teri maa ki choot saale musalmaan ki aulad
21 hours ago via mobile · Like · 1


सुशील कुमार् तिवारी phone karo ise
21 hours ago · Like


Manish Lamrod Abe kabutar, Kabhi tere name ki history dekhi he ki ye Alok name ki utpatti kaha se huyi ? Kisi jamane me ek bahut bada pandu (p=g) hua karta tha uska name tha Alok, kahi usi se shiksh lekar to nahi ?
21 hours ago via mobile · Like · 1


Rohit Sharma Abe harmai tere bap k nam rahke gadar sale
21 hours ago via mobile · Like


Deepak Goyal u love name 'India' or 'Indians', whichused to be given to third grade citizens by Englist speakers, as they callled 'Red Indians' or 'West Indians' etc...?
21 hours ago · Like · 1


Tusar Rj Panda Bhaarat to king of bharat say huaa,king-bharat kay pehele jo naam humara desh ka tha wo kripa karke bataenge.....??? Kisi desh ka bhi 2 naam nehi hai,sirf humaray desh ka hai,.....ab aap eak naam dedejea,kyon dimaak ke dahi jamaa rahe hain....jai ho
21 hours ago via mobile · Like


Arun Rajbhar accha to kya mullastan rakhna chaiyhe

21 hours ago via mobile · Like


Dhaybhai Mukesh Gurjar Bharat nam to raja bhrat se bhi purana he raja bhrat se sekdo sal purana.bharat ke naamkrn ka karn he yha ke rajao ke bich me aksr choti-2ldaiya hoti rhti thi .jese bde yudh ko mahabharat .

21 hours ago via mobile · Like


Sakshi Thakur सच्चाई
हमारी न्यायलय व्यवस्था

एक जंगल में गाय भागती हुई जा रही थी हाथी ने उसे रोक के उससे भागने का कारण पुछा गाय ने कहा जंगल के सरे बैलो को पकड़ने का आदेश आया है ।
हाथी ने कहा :- तुम क्यों भाग रही हो तुम तो गाय हो ।

गाय ने कहा :- मैं गाय तो हु लेकिन अगर मुझे पकड़ लिया तो २० साल मुझे ये साबित करने में लग जाएगा की मैं गाय हु ।

ये सुन कर गाय और हाथी साथ साथ भागने लगे ।
Join this page
सच्चाई
..... ..... .....
सच्चाई
.... ..... .....
सच्चाई
..... ..... .....
सच्चाई
21 hours ago via mobile · Like


Seema Verma Kutte bharat naam pe likhne ka matlab tera naam rkha jaye hrami
21 hours ago via mobile · Like · 2


Vijay Yadav chodu sale pahle itihas pura pada kar wah rishi ke shrap ki wajah se nahi pahchan paye madharchod mahan logo ke bare me aisa jakir naik tipe ke lekh likhega to ma chod dunga teri.
21 hours ago via mobile · Like · 3


Mahesh K. Rastogi kyo bahka rahe ho bhai.
21 hours ago via mobile · Like · 1


Umesh Bharti bharat ka nam badalne se pahle Apne nam se dixit hatakar james,peter ya khan lagale sale!
21 hours ago via mobile · Like · 3


Kattar Congressi mata soniya ki jai bharat ka naam wahi ho alpsankhyak bhaio ko pasand ho
21 hours ago via mobile · Like · 1


Satish Agrawal soniastan rakha chahta ho kya
21 hours ago via mobile · Like · 1


चौधरी विनीत चाहर bhosdi k tri maaa ki choot me aag jada h to suar chada de apni maa oe alok dixit.tu apni maa se puchna kis kutte ki aulaad h tu.
20 hours ago via mobile · Like · 2


Monavie India Aman Bose अबे आलोक तू पाकिस्तान क्यो नही चला जाता शायद तेरे बिछडे परिवार वाले मिल जाये!

शेक्शपिअर का कापीराईट मुझे दिलवा दे अगर नाम मे कुछ नही रखा है तो!

तेरे को INDIA चाहिये ५० साल गुलामी कर ले किसी की मान लुंगा!
20 hours ago via mobile · Like · 5


Raghawendra Deo अगर मैं ये कहु की अलोक जी ने अपना surname Dixit की उपज dick +shit तो ये ये ऐसी ही ब्याख्या होगी जैसे वो भारत का कर रहे है
20 hours ago · Like · 2


Shanti Bhushan Kumar यार दिक्क्षीत,,यार तुम आदमी हो कि पैजामा..?तुम इतना गंदा कैसे सोच सकते हो यार..?
20 hours ago via mobile · Like · 2


Gaurav Tiwari bhai logo jb se is madarchod ne ye post kiya h tb se mera dimag kharb ho gya h...iski ache se maa chudani chaiye aur ise laat maarkar pakistan bhej dena chahiye..wahi jaye ye kasab, jinna aur afjal ki najayaj aulaad..
20 hours ago via mobile · Like · 3


Gagan Shukla madrchodo, harami k pillo, hame apne itihas pe hamesa garv rha hai aur rhega, lekin jo hamare hajaro year purane itihas ko galat bata rha hai o madrchod des ka gaddar hai, sale adhure gyan ko lekar uchhal rhe ho, pata kuchh nai hai, Raja dusyant Aur Sh...See More
20 hours ago via mobile · Like · 3


Rajesh Srivastav alok dick-shit admi nhi paijama hai
20 hours ago via mobile · Like · 3


Gagan Shukla Naam ke uplushy me sanskrit me ek kahavt hai-''jatha naam tatha gud''
Jai jai siyaram.
20 hours ago via mobile · Like · 1


Sanjay S Shah alok tu pagal ho gaya hai
20 hours ago via mobile · Like · 2


Raghawendra Deo ऐसा न हो कि कल मुंबई में आप (AAP ) अपने को सच्चा भारतीय साबित करने के लिए नव वर्ष (गुड़ी पाडवा ) धूम धाम से मनाये और अपने गुड़ी में लोटे की जगह स्टील का गिलास बांध दे. जय हो.
20 hours ago · Like · 2


Iyala MelanKolic EKstasy dear post likhney waley sriman ji , me aapko nahi janti , par aapki 'napuunsankta' ki seemaye dekh kar mera kaleja dhakk sey ho kar reh gaya . aur apni agaynta ka yu sar-e-aam vigyapann karney waley bi mene kum hi dekhey hein . aapko apney itihaas ke e...See More
19 hours ago · Like · 6


Arvind Aryan हा हा हा हा हा, बिल्कुल सही बैंड बजाया इस 'गटरज़ादे' का तुमने Iyala! And trust me, our fault is not that we are entertaining them, our fault is that we're STILL not cutting them into thousand pieces and further feeding those pieces to stray swines - for NO OTHER animal would like to eat their stinking, degenerate pieces of crap!
19 hours ago · Edited · Like · 3


Iyala MelanKolic EKstasy they are zombies Arvind , they do not have brains , they are after ours brain , chom chom chom ..... i will spit on their graves ........ oh yeh graves ... inka dah-sanskaar to hona ni he .... kabro me hi jayengey lol
19 hours ago · Like · 3


Shakina Akhter shame on u alok dixit........u r a looser as ur party.....aap log kehete ho ki aam admi ko represent kerte ho...par apke comments se bilkul nhi lgta.....common people would definitely sue u....dnt worry
19 hours ago · Like · 4


Arvind Aryan Iyala and Shakina, these devils don't deserved to be sued, burnt to ashes or buried into graves for that matter - they just need horribly painful deaths to be followed by swine-feasts! If just 5 of them are made to go through this, I'm more than sure at least 5,00,000 WON'T dare wag their devilish tongues!!
19 hours ago · Like · 2


Shakina Akhter the foremost need fr any nation to progress is to create a feeling of nationalism....n that nationalism comes by hving proud on our history not by denigrating it........the ones whom u r really needed to denigrate were the invaders but strangely prople like u glorify them......ur party will divide this nation ....already ur stance on kashmir issue is critical
19 hours ago · Like · 3


Arvind Aryan These shameless creatures belonging to AAP are Communists or Leftists, Shakina! And to know what these degenerate have got to do with supporting Islam, read and watch a few links:

http://www.scribd.com/doc/124473286/

वामपं‍थ की इस्लामपरस्ती - एस. शंकर - भाग 01 - Vaampanth Ki Islam-Parasti - S. Shankar - Part 01www.scribd.com
<​p> इस्लाम की क्रूर, बर्बर, कुटिल एवं पाशविक नीति को हर प्रकार के गलीज एवं बे...See More
19 hours ago · Like · 1


Arvind Aryan http://www.scribd.com/doc/124473509/

वामपं‍थ की इस्लामपरस्ती - एस. शंकर - भाग 02 - Vaampanth Ki Islam-Parasti - S. Shankar - Part 02www.scribd.com
<​p> इस्लाम की क्रूर, बर्बर, कुटिल एवं पाशविक नीति को हर प्रकार के गलीज एवं बे...See More
19 hours ago · Like · 1


Arvind Aryan http://www.youtube.com/watch?v=4dg51EiQry0

Jamie Glazov: United in Hate - the Left's Romance with Tyranny and Terror (2 of 4)www.youtube.com
As history shows, leftist beliefs have spawned mass carnage and misery. Put into...See More
19 hours ago · Like · 1


Arvind Aryan http://www.youtube.com/watch?v=kO7IVl4-JFw

United in Hate: Liberals and Militant Islam - Jamie Glazov (Part 1)www.youtube.com
As history shows, leftist beliefs have spawned mass carnage and misery. Put into...See More
19 hours ago · Like · 1


Abhhiram Jha Alok dixit , ur writing n ur thinking is enough to prove tht u r hvng undeveloped brain , so its nt possibl 4 u 2 undrstnd indian history n relationship , as far as countrys name is concerned , u cn use ur neighbers ( padoshi ) name n title in place of ur fathers , we dnt hv any objection ...
18 hours ago via mobile · Like · 3


Manish Tripathi एक बात बताओ दोस्त दीक्षित का मतलब क्या होता है?इस लेख ने ये तो सिद्ध कर दिया कि तुम केवल और केवल किताबी कीड़े हो।
18 hours ago · Like · 3


Gaurav Kumar confusing hai...shakunatla ke gandhrwa vivah dusyant se tha ke bharat se...a
18 hours ago via mobile · Like


Ambuj Singh Rajput Sale agar tu mil jaye to mai tuje jinda jala dunga
18 hours ago via mobile · Like · 1


Ambuj Singh Rajput Mulle ki najayaj paidaish alok dixit
18 hours ago via mobile · Edited · Like · 2


Harish Kumar Tu sale pagal hai.
18 hours ago via mobile · Like · 2


Aditya Bindaas Sharma gand mara le madarchod
fir dekh tere man me naye naye vichar aayenge....
17 hours ago via mobile · Like · 4


जीत शर्मा मानव वाम पंथी अर्थात पड़ोसी की रात में की मदद से पैदा हुए जीव ,,अब इन फोर्ड फ़ौंडेशन के पैसे पर अपनी माँ बहिनों से मुजरा करवाने वाले दलालों को अपना नाम भारतीय परंपरा के अनुसार अलोक दीक्षित रखे जाने का आकलन भी कर लेना चाहिए की इनका ये नाम कैसे रखा गया ?? नहीं...See More
17 hours ago · Like · 8


Sajwan Rockx Esko kya ho gaya hai kya bak reha hai ye pagal khane se to nahi aah gaya hai ye
17 hours ago via mobile · Like


जीत शर्मा मानव सूअर , मुल्ले और वामपंथी सिर्फ गंदगी फैलाते है , जिस थाली में खाते है उसी में छेद करते है ....
17 hours ago · Like · 4


स्वाभिमान से समझौता नही Alok tm bahut bde murkh ho.tmhe bich chaurahe pr nanga krke phansi pr ltkaya jay tb pr v yh sja km hogi.gaddar ho tm
17 hours ago via mobile · Like · 3


Chandan Roy Communist gaddar sale. . . .apne desh ki burai krte ho. . . .

Agr bharat pyara nai to jao vatican/arab me gand marao. . .yha kyu bhaunk rhe ho???
17 hours ago via mobile · Like · 4


Rahul Kumar to ...kya kahna chate ho .......ki hum....bharat..ki jagha ...pakistan ...likhe ......abe ...bhaad me jaa tu ....saale gandi nali ke kide ...lagta h jayda ...hi hoshiya ho tum ....ho jaye 2-2 hath ....?
17 hours ago via mobile · Like · 3


Aditya Bindaas Sharma plz do report of this post.....
17 hours ago via mobile · Like · 2


Vivek Dwivedi तेरी कहानी से ऐसा लगता है कि तेरा वास्तविक उपनाम "दीक्षित" नहीं "DICK SHIT" है वामपंथियों की नाजायज औलाद...........
17 hours ago · Like · 8


Chandan Roy Report this post
17 hours ago via mobile · Like · 2


आनन्द भट्ट 'वीर सावरकर' @आलोक अरे मूर्खाधिराज ! तू मैकाले
जैसों की नाजायज औलाद है, जो
वातावरण को बिषैला करने में ही अपनी
बुद्धिमता समझते हो...!
...See More
17 hours ago via mobile · Like · 5


Kunwar Rajesh Singh Tanwar Report Karo Is Harami Ki Post Ko Or Block Maro Ise.
17 hours ago via mobile · Like · 2


Naveen Jain beta alok pahale ithhas r ke baare m jaan fir kutto ki tarah bhhokna
17 hours ago · Like · 1


અરુણ કાઠિયાવાડી Chalo man bhi lo k Apko Raja Dushyant ka andaz pasand nai aya...lekin bhai Humare desh ka nam dushyant nahi hai...Aapko Raja Bharat ke karyo ka knowledge b rakhna chahiye.
17 hours ago via mobile · Like · 3


Amrita Mishra akok dixit....kutte apni ancestors ki history dekh....kis dogle ki paidais hai tu......kutte tune dharm t pehle bech dala..ab desh pe bhi kichad uchal rha...
15 hours ago · Like · 2


Ashwin Verma totally wrong point of view alok ji.....jis bare me apko jada na pata ho us bare me na hi kahe to behtar he.
14 hours ago · Like · 2


Ankit Kumar Jain bhaukne se pehle jra itihas ko palat lete mr. Alok tere byano se aisa lagta hai ki tu ko secularism ka kida hai :s
10 hours ago via mobile · Like · 2


Aasish Aaush Mahapurso ko izzat dena sikho.ye dharti hai-bir bhogya basundhara. be najayj Alok
9 hours ago via mobile · Like · 1


Bhupendr Kumar Mourya kutta hai sala
7 hours ago via mobile · Like · 1


जितेंद् कुशवाहा teri maa bhi kaiyo ke sath soyi hogi kamene.jakar apni maa se puch tu kiski mauj k namuna hai.aur agar teri patni ho to usi jasusi kar .haramkhor pata chalega tujhe ki vo kitno ke sath soyi hai.
Mahaan logo par ugli uthana hai.are us vakt bhagvan shri...See More
7 hours ago via mobile · Like


Ravi Kumar maraibe ka re saare
28 minutes ago via mobile · Like

No comments:

Post a Comment

अधार्मिक विकास से शहर बन रहे है नरक

जीता-जागता नरक बनता जा रहा है गुरुग्राम: स्टडी गुरुग्राम गुरुग्राम में तेजी से हो रहे शहरीकरण और संसाधनों के दोहन को लेकर एक स्टडी ...